जागरण संवाददाता, देहरादून: राज्य में कोरोना संक्रमण की रफ्तार लगातार बढ़ती जा रही है। सबसे ज्यादा मामले इन दिनों राजधानी देहरादून में आ रहे हैं। लेकिन इसके बाद भी धार्मिक स्थलों पर लोग इसका पालन नहीं कर रहे हैं। मंदिरों, मस्जिदों में कई लोग सही तरह से मास्क न लगाने और ना ही शारीरिक दूरी का पालन कर रहे हैं। कोरोना संक्रमण को बढ़ते देख मंदिर समितियों ने मास्क है तो मिलेगा प्रवेश के आधार पर व्यवस्था बना दी है। साथ ही बार- बार प्रतिमा को न छूने और एक ही स्थान पर प्रसाद चढ़ाने की भी अपील की है। इसके लिए मंदिरों में सेवादार मौजूद रहेंगे। भीड़ कम से कम हो इसे लेकर विभिन्न मंदिर समितियों ने आगामी धार्मिक कार्यक्रमों को सादगी से मनाने अथवा स्थगित करने का निर्णय लिया है।

शहर में सहारनपुर रोड स्थित मां डाटकाली, टपकेश्वर महादेव मंदिर गढ़ी कैंट, साईं मदिर राजपुर रोड, पृथ्वीनाथ महादेव मंदिर सहारनपुर चौक, प्राचीन शिव मंदिर धर्मपुर, हनुमान मंदिर आराघर चौक, सनातन धर्म मंदिर प्रेमनगर में श्रद्धालु हर दिन पूजा, जलाभिषेक, विशेष पाठ, आरती, भंडारा, भजन संध्या के लिए काफी संख्या में पहुंचते हैं। इसके अलावा भी शहर के कई मंदिरों में सुबह से लेकर शाम तक श्रद्धालुओं का आना जाना रहता है। लेकिन वर्तमान में बढ़ते कोरोना संक्रमण ने मंदिर समितियों और पंडितों की भी चिंता बढ़ा दी है। हालांकि कुछ मंदिर समितियों ने पूर्व में भी श्रद्धालुओं से कोविड गाइडलाइन का पालन कर की अपील की, लेकिन संक्रमण बढऩे के साथ कई लोग इस ओर बेपरवाह बने हुए हैं। जिसके चलते मंदिर समितियों को दर्शन, पूजा, आरती करने वाले श्रद्धालुओं के लिए व्यवस्था बनाई है।

यह भी पढ़ें- कोरोना के हल्के लक्षण भी हैं तो वैक्सीन से पहले कराएं जांच, जानिए क्या है डाक्टरों की सालह

इनका कहना है

टपकेश्वर महादेव मंदिर के महंत श्री 108 कृष्णा गिरी महाराज का कहना है कि मंदिर में सेवादार वहां आने वाले श्रद्धालुओं से शारीरिक दूरी बनाने और मास्क अनिवार्य की लगातार अपील करते रहते हैं। खुद और दूसरों को इस संक्रमण से बचाव के लिए शारीरिक दूरी जरूरी है।

पृथ्वीनाथ महादेव मंदिर सेवादल के सेवादार संजय गर्ग का कहना है कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रत्येक सोमवार को भव्य आरती, मकर संक्रांति पर होने वाले भव्य आयोजन को स्थगित किया गया है।

जलाभिषेक करने वालों से अपने घर से पात्र लाने, प्रसाद एक ही स्थान पर चढ़ाने की अपील पोस्टर बैनर के जरिये की जा रही है। मास्क पहनकर आने वाले श्रद्धालुओं को प्रवेश मिलेगा। आराघर स्थित हनुमान मंदिर के पंडित विष्णु प्रसाद भट्ट ने बताया कि मंदिर के मुख्य गेट पर सेनिटाइजर की व्यवस्था है। बिना मास्क वालों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। मकर संक्रांति पर होने वाले भंडारा, भजन संध्या स्थगित किए हैं।

मां डाटकाली के महंत रमन प्रसाद गोस्वामी का कहना है कि संक्रमण को देखते हुए श्रद्धालुओं से लगातार शारीरिक दूरी बनाने की अपील की जा रही है। दर्शन के लिए एक बार में ज्यादा भीड़ एकत्र न हो इस पर सेवादार ध्यान दे रहे हैं।

यह भी पढ़ें- एमडी-एमएस में दाखिले को कर रहे हैं इंतजार तो ये खबर जरूर पढ़ें, शुरू होने जा रही है स्टेट काउंसलिंग

Edited By: Sumit Kumar