देहरादून, जेएनएन। वासंतिक नवरात्र के तहत आठवें रोज बुधवार को दुर्गा के महागौरी स्वरूप की पूजा अर्चना की गई। लोगों ने लॉकडाउन का पालन करते हुए बाहर से किसी भी कन्‍या को आमंत्रित नहीं किया।  कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव को लेकर देवी मंदिर परिसरों में कम ही संख्या में लोग पहुंचे। सायंकाल व्रतियों व अन्य लोगों ने घरों में वाद्य यंत्रों के साथ भजन-कीर्तन कर मां की महिमा का यशोगान किया।

धर्मगुरुओं और मंदिरों के पुजारियों ने मंदिरों में पूजा अर्चना की। उनका कहना है कि इस बार लोग कन्याओं को दिया जाने वाला दान प्रधानमंत्री राहत कोष में जमा कर दे। इससे जरूरतमंदों की मदद हो सकेगी। यह भी दान का विषय है। शास्त्रों और ग्रन्थों में भी जरूरतमंदों की मदद को सबसे महत्वपूर्ण और पुण्य देने वाला बताया गया है।

इस बार चैत्र नवरात्र 25 मार्च को शुरू हुए थे। उस हिसाब से आज अष्टमी है। माता वैष्णो देवी गुफा योग मंदिर के संस्थापक आचार्य विपिन जोशी ने बताया कि अष्टमी के दिन कन्या पूजन का शुभ मुहूर्त सुबह 10 बजकर 16 मिनट से दोपहर एक बजकर 25 मिनट तक है। अगर घर में कोई कन्या है तो उसी को मां का रूप मानकर पूजा करें। घर में भीड़ न हो, इस बात का विशेष ध्यान रखें। कन्या जिमाने में किया जाने वाला खर्च सच्चे मन से प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा कर दें। इससे भी उतना ही पुण्य मिलेगा।

आचार्य डॉ. संतोष खंडूड़ी ने बताया कि कन्या पूजन में आप अपनी सामर्थ्‍य अनुसार जो खर्च करते हैं, वह धनराशि इस बार प्रधानमंत्री राहत कोष में दान कर दें। आपकी यह मदद जरूरतमंदों तक पहुंचेगी तो मां भगवती भी संतुष्ट होंगी। 

पं. आदित्यराम थपलियाल ने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए न ही किसी को घर बुलाएं और न किसी के घर जाएं। ऐसा करने से नवरात्र का व्रत रखने वाले भक्तों को उतना ही फल मिलेगा, जितना कन्याओं की पूजा करने से मिलता है। शास्त्रों के अनुसार गो माता को खाना खिलाने से हर प्रकार के कष्ट दूर होते हैं।

नौ परिवारों को करें अन्नदान

माता वैष्णो देवी गुफा योग मंदिर टपकेश्वर के संस्थापक आचार्य विपिन जोशी ने मंगलवार को टपकेश्वर कॉलोनी में अपने आवास पर विशेष चैत्र नवरात्र पूजा अनुष्ठान किया। उन्होंने सभी भक्तों से अनुरोध किया है कि अष्टमी में कन्या पूजन विधि-विधान से करें। नौ परिवारों को नौ दिन का अन्न व अन्य आवश्यक वस्तुओं का दान करें।

यह भी पढ़ें: नवरात्र: एक कन्या में मां के नौ रूप देख करें पूजा, पढ़िए पूरी खबर

सोशल मीडिया पर भी होती रही अपील

सोशल मीडिया पर भी तमाम लोग कन्याओं को घर बुलाकर दान देने के बजाय उक्त धनराशि पीएम राहत कोष में जमा करने की अपील कर रहे हैं। तमाम लोगों ने इसका समर्थन भी किया। पटेलनगर निवासी पुष्पा, रीता और राखी ने बताया कि उन्होंने कन्याओं के नाम की पूजा कर उनका दान सीएम राहत कोष में जमा करने का निर्णय लिया है।

यह भी पढ़ें: coronavirus नहीं डिगा पाया भक्तों की आस्था, घर पर बैठ फोन के जरिए करवा रहे हैं पूजा

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021