जागरण संवाददाता, देहरादून: अंकिता भंडारी हत्याकांड से समूचा प्रदेश आक्रोशित है। दूनवासी भी अंकिता को इंसाफ दिलाने के लिए सड़कों पर उतर रहे हैं। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और महिला कांग्रेस सेवा दल ने अलग-अलग स्थानों पर रैली निकालकर आक्रोश जताया। उन्होंने अंकिता के हत्यारों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की मांग की। आंगनबाड़ी कार्यकर्त्ताओं ने एक दिन का मानदेय अंकिता के परिवार को देने का भी एलान किया।

हत्याकांड से प्रदेश की बेटियों की सुरक्षा पर उठ रहे सवाल

मंगलवार को आंगनबाड़ी कार्यकर्त्ता रायपुर स्थित अभिनंदन वेडिंग प्वाइंट पर एकत्रित हुईं। जहां रैली के रूप में क्षेत्र के विभिन्न क्षेत्रों से होती हुईं आगे बढ़ीं। रैली प्राचीन शिव मंदिर के पास संपन्न हुई। वक्ताओं ने कहा कि अंकिता हत्याकांड से प्रदेश की बेटियों की सुरक्षा पर सवाल उठ रहे हैं। इस जघन्य अपराध के दोषियों को कड़ी सजा दी जानी चाहिए। आंगनबाड़ी कार्यकर्त्ताओं ने अंकिता के परिवार की मदद को भी हाथ बढ़ाया है। उन्होंने निर्णय लिया है कि प्रदेश की सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्त्ता अपने एक-एक दिन का मानदेय अंकिता के परिवार को देने का निर्णय लिया है। ताकि, वे कोर्ट केस और वकील का खर्च उठा सकें।

जन आक्रोश रैली निकाल कर हत्यारों को फांसी की मांग

साथ ही उन्होंने अन्य लोगों से भी मदद की अपील की है। इस दौरान पार्षद अनिल क्षेत्री, अंबिका उनियाल, ज्योतिका पांडेय, उमा, ज्योति बाला, नीलम पालीवाल, रेणू कोहली, संगीता प्रजापति, उर्मिला रजनी, रीता आदि उपस्थित रहीं। उधर, तुनवाला में महिला कांग्रेस सेवा दल की प्रदेश अध्यक्ष हेमा पुरोहित के नेतृत्व में अंकिता को श्रद्धांजलि दी गई। साथ ही बड़ी संख्या में सेवा दल की सदस्यों ने जन आक्रोश रैली निकाल कर अंकिता के हत्यारों को फांसी की मांग की। हेमा पुरोहित ने कहा कि अंकिता को हर कीमत पर न्याय मिलना चाहिए। अपणु पहाड़ अपणु संस्कृति मंच के अध्यक्ष प्रवीण पुरोहित ने कहा कि अंकिता को इंसाफ दिलवाने के लिए वे उसके परिवार के साथ खड़े रहेंगे। बदरीनाथ विधायक राजेंद्र भंडारी ने कहा कि पीड़ित परिवार को हर संभव मदद दी जाए। हेमंत चंदोला, हर्षवर्द्धन शर्मा, राजेश नौटियाल, बबीता बिड़ला, रेनू रुहेला, पंकज जोशी, सावित्री थापा, शालिनी चौधरी आदि उपस्थित रहे।

कैंडल मार्च निकाल दी अंकिता को श्रद्धांजलि

उत्तराखंड अधिकारी कर्मचारी शिक्षक समन्वय समिति ने कैंडल मार्च निकालकर अंकिता भंडारी को श्रद्धांजलि दी। साथ ही घटना पर रोष प्रकट करते हुए हत्यारों को फांसी की सजा देने की मांग की। समन्वय समिति के बैनर तले अंकिता भंडारी की निर्मम हत्या के विरोध में कैंडल मार्च निकालकर भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई। समिति के प्रवक्ता अरुण पांडे ने बताया कि कार्मिकों की 20 सूत्री मांगों के निराकरण को लेकर जनपद स्तरीय रैली प्रस्तावित थी, लेकिन अंकिता हत्याकांड से प्रदेश में उपजे जनाक्रोश को देखते हुए कार्यक्रम में परिवर्तन कर अंकिता को न्याय दिलाने के लिए कैंडल मार्च निकाला गया।

इससे यह संदेश देने का प्रयास किया गया कि इस दुख की घड़ी में कर्मचारी पीड़ित परिवार के साथ हैं। देहरादून में जिला मुख्य संयोजक सुभाष देवलियाल, आरपी जोशी, चौधरी ओमवीर सिंह, शांतनु शर्मा व दीप चंद्र बुधलाकोटी के आह्वान पर शाम साढ़े पांच बजे कैंडल मार्च निकाला गया। जो घंटाघर से गांधी पार्क होते हुए वापस घंटाघर स्थित स्व. इंद्रमणि बड़ोनी की मूर्ति पर संपन्न हुआ। कैंडल मार्च में डिप्लोमा इंजीनियर्स महासंघ के अध्यक्ष एसएस चौहान, महामंत्री मुकेश रतूड़ी, पर्वतीय कर्मचारी शिक्षक संगठन के महामंत्री पंचम सिंह बिष्ट, मिनिस्टीरियल फेडरेशन के अध्यक्ष पूर्णानंद नौटियाल, महामंत्री मुकेश बहुगुणा, इंजीनियरर्स ड्राइंग संघ के अध्यक्ष निशंक सरोही, निगम अधिकारी कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष दिनेश गोसाईं आदि उपस्थित रहे।

Ankita Murder Case: ऋषिकेश में अंकिता को लेकर फेसबुक पर की अभद्र टिप्पणी, लोगों ने किया प्रदर्शन, फूंका पुतला

Edited By: Sumit Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट