जागरण संवाददाता, देहरादून : कोरोनेशन अस्पताल में भर्ती चकराता निवासी एक महिला की शुक्रवार सुबह मौत हो गई। जिस पर महिला के परिजनों ने डॉक्टरों पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगा हंगामा शुरू कर दिया। वह चिकित्सक के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगे। सूचना पाकर चकराता विधायक एवं काग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह भी अस्पताल पहुंच गए। जहां उन्होंने वस्तुस्थिति की जानकारी ली। काफी देर बाद चिकित्सकों के समझाने पर परिजन शात हुए।

चकराता क्षेत्र की एक 55 वर्षीय महिला को परिजन 17 फरवरी को कोरोनेशन अस्पताल लाए थे। महिला को छह महीने से अत्याधिक कमर दर्द की शिकायत थी। उन्होंने न्यूरो सर्जन डॉ. राहुल अवस्थी से जाच कराई। डॉ. अवस्थी ने प्राथमिक जाच के बाद उन्हें भर्ती करा दिया। शुक्रवार सुबह महिला की अचानक मौत हो गई। जिससे गुस्साए परिजनों ने अस्पताल में हंगामा शुरू कर दिया। उन्होंने चिकित्सक पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया। बाद में चिकित्सकों के समझाने पर परिजन शात हुए। चिकित्सको ने बताया कि महिला की हालत में सुधार हो रहा था। संभवत: उम्र के हिसाब से दिल का दौरा पड़ने से उनकी मौत हुई है। न्यूरो सर्जन डॉ. अवस्थी का कहना है कि परिजनों ने कोई शिकायत नहीं दी है। वहीं, कोरोनेशन व गांधी अस्पताल (जिला अस्पताल) के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. बीसी रमोला का कहना है कि मामले की शिकायत मिलने पर डेथ ऑडिट कराया जाएगा। यदि किसी स्तर पर चूक हुई है तो निश्चित ही कार्रवाई की जाएगी। अस्पताल स्तर पर किसी भी लापरवाही की गुंजाइश नहीं है और लापरवाही मिली तो संबंधित व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस