देहरादून, जेएनएन। सेनिटाइजेशन के लिए निरंजनपुर मंडी बंद किए जाने की सूचना मिलते ही फुटकर में मनमानी शुरू हो गई। शनिवार से तीन दिन मंडी बंद रहने के बहाने फुटकर विक्रेता फल-सब्जी की ओवर रेटिंग करने लगे हैं। शिकायतों का संज्ञान लेते हुए मंडी सचिव ने कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है। अधिक दाम पर सब्जी बेचते पाए जाने पर विक्रेता का पास निरस्त कर दिया जाएगा। शनिवार को निरंजनपुर मंडी तीन दिन के लिए बंद कर दी गई। इस दौरान यहां केवल सेनिटाइजेशन का कार्य होगा। ऐसे में फल-सब्जी के फुटकर विक्रेता चांदी काटने में जुट गए हैं।

शनिवार को शहर के विभिन्न इलाकों में लगभग दोगुने दामों पर सब्जी बेचे जाने की शिकायतें मिलीं। मंडी बंद होने की सूचना को फुटकर विक्रेताओं ने खूब भुनाया। शहर में लगने वाली ठेलियों पर भी कमोबेश यही आलम रहा। मंडी सचिव विजय थपलियाल ने ऐसे वेंडर को कड़ी चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि यदि शहर में कहीं भी कोई निर्धारित से अधिक दाम पर फल-सब्जी बेचता पाया गया तो उसका पास निरस्त कर दिया जाएगा। उसे भविष्य में मंडी में प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

सेनिटाइजेशन जारी 

निरंजनपुर मंडी को शनिवार सुबह आठ बजे पूर्ण रूप से बंद कर दिया गया। इसके बाद यहां दुकानों और गोदामों में सेनिटाइजेशन किया गया। अब यहां तीन दिन और सेनिटाइजेशन किया जाएगा। इसके बाद मंगलवार देर रात दो बजे मंडी फिर से कारोबार के लिए खोल दी जाएगी।

यह भी पढ़ें: Lockdown 4.0: देहरादून के बाजार का आज पूरी तरह रहेंगे बंद, सिर्फ इन्‍हें दुकान खोलने की इजाजत

बाजार में पहुंचा दी गई पर्याप्त सब्जी 

देर रात एक बजे मंडी खुलने के बाद शनिवार सुबह आठ बजे मंडी को बंद कर दिया गया। शनिवार सुबह मंडी से पर्याप्त मात्र में सब्जी बाजार में भेज दी गई। ताकि तीन दिन तक सब्जी की किल्लत जैसी स्थिति न बने। मंडी सचिव ने बताया कि अधिकांश फल-सब्जी को मंडी से बाहर निकलवा दिया गया।

 यह भी पढ़ें: Coronavirus: तीन दिन के लिए दून की मंडी बंद, मनमाने दाम पर सब्जी बेच रहे फुटकर विक्रेता

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस