जागरण संवाददाता, देहरादून: उत्तराखंड में स्वाइन फ्लू का कहर बढ़ता ही जा रहा है। इस बीमारी से होने वाली मौत का आकड़ा भी लगातार बढ़ रहा है। शनिवार को स्वाइन फ्लू से एक और महिला की मौत हो गई है। जिसके बाद इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 13 हो गई है।

प्रदेश में स्वाइन फ्लू का वायरस जानलेवा साबित हो रहा है। स्थिति यह कि अब तक सामने आए मरीजों में 31 फीसद को अपनी जान गंवानी पड़ी है। जानकारी के अनुसार, शनिवार को पटेलनगर स्थित श्री महंत इंदिरेश अस्पताल में भर्ती उत्तरकाशी निवासी 28 वर्षीय महिला की मौत हो गई है। स्वाइन फ्लू से पीड़ित महिला को एक दिन पहले ही अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इतना ही नहीं, एक और मरीज में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई है। कुल मिलाकर प्रदेश में स्वाइन फ्लू का वायरस अब तक 42 लोगों को अपनी चपेट में ले चुका है। अकेले श्री महंत इंदिरेश अस्पताल में अब तक 10 मरीजों की मौत का कारण स्वाइन फ्लू बन चुका है। एक के बाद एक मरीजों की मौत हो रही हैं, बावजूद इसके सूबे का स्वास्थ्य महकमा हाथ पर हाथ धरे बैठा है। इतना जरूर की स्वाइन फ्लू के बढ़ते कहर पर पर्दा डालने के लिए महकमे ने मरीजों का डेथ ऑडिट का शिगूफा छेड़ा हुआ है। सीएम को भी गुमराह कर रहे अफसर

स्वाइन फ्लू पर स्वास्थ्य विभाग के अफसर सीएम तक को गुमराह कर रहे हैं। रविवार को महात्मा गांधी शताब्दी नेत्र चिकित्सालय में आयोजित कार्यक्रम में इसकी तस्दीक हुई। मीडिया ने स्वाइन फ्लू पर सवाल पूछा तो मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि उन्हें बताया गया कि इस बीमारी से अब तक तीन लोगों की मौत हुई है। बाकी लोग अन्य गंभीर बीमारियों से पीड़ित थे। इससे जुड़ा तकनीकी पक्ष क्या है, इसकी मुझे जानकारी नहीं है। यह संबंधित व्यक्ति ही ज्यादा बेहतर बता पाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस