जागरण संवाददाता, देहरादूनः उत्तराखंड में कोरोना संक्रमित 25 और मरीजों में ओमिक्रोन वैरिएंट की पुष्टि हुई है। दून मेडिकल कालेज के लैब में इन सैंपल की जीनोम सिक्वेंसिंग हुई है। इससे पहले भी राज्य में 93 मरीज ओमिक्रोन ग्रसित मिले थे। ऐसे में कुल मामलों की संख्या बढ़कर 118 हो गई है।

 स्वास्थ्य महानिदेशक डा. तृप्ति बहुगुणा ने बताया कि ओमिक्रोन वैरिएंट से ग्रसित सभी मरीज अब स्वस्थ हो चुके हैं। इनमें अधिकांश में कोविड के हल्के लक्षण थे और ये सभी होम आइसोलेशन में थे। उन्होंने कहा कि ओमिक्रोन वैरिएंट हल्के लक्षण के साथ मरीज को बीमार कर रहा है, लेकिन इस नए वैरिएंट से पीडि़त व्यक्तियों की अस्पताल में भर्ती होने की दर बहुत कम है। इससे बचाव के लिए सावधानी व सतर्कता अति आवश्यक है। सभी लोग अनिवार्य रूप से कोविड अनुरूप व्यवहार अपनाएं। मास्क जरूर लगाएं और भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचें। यदि किसी व्यक्ति में लक्षण दिखाई देते हैं तो परिवार के अन्य सदस्यों से स्वयं को अलग कर ले और तुरंत आइसोलेट हो जाए। कोरोना जांच प्राथमिकता के आधार पर कराए और बिना चिकित्सीय परामर्श दवा ना ले।

यह भी पढ़ें- मसूरी स्थित एलबीएस अकादमी में 84 प्रशिक्षु अधिकारी कोरोना संक्रमित, प्रशिक्षण के तहत गए थे गुजरात के ग्रामीण क्षेत्रों के भ्रमण पर

नर्सिंग कालेज में 53 लोग मिले कोरोना संक्रमित

गोपेश्वर : चमोली जिले में मंगलवार को 96 लोग कोरोना पाजिटिव मिले। सभी को क्वारंटाइन किया गया है। नर्सिंग कालेज पठियालधार में 53 जबकि गोचर में रेलवे प्रोजेक्ट में काम कर रही एक कंपनी के 43 लोग कोरोना संक्रमित मिले। नर्सिंग कालेज में कोरोना पाजिटिव में छात्राओंं के साथ कर्मचारी भी शामिल हैं। जिले में अभी तक कोरोना के 171 मामले आ चुके हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. एसपी कुडिय़ाल ने बताया कि सभी को नर्सिंग कालेज में ही आइसोलेट किया गया है।

यह भी पढ़ें- चुनाव ड्यूटी से नाम कटवाने को बहाने भी ऐसे, जो नहीं उतर रहे अधिकारियों के गले; आप भी जानिए

Edited By: Sumit Kumar