मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

चार धाम में हिमपात, पारा शून्य से नीचे पहुंचा; ठिठुरा उत्तराखंड

जेएनएन, देहरादून। उत्तराखंड में मौसम कंपकंपी छुड़ा रहा है। बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के साथ ही उच्च हिमालय की चोटियां बर्फ से लकदक हो गईं। चार धामों में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे होने के कारण पानी भी जमने लगा है। वहीं, निचले क्षेत्रों में सुबह से हो रही बूंदाबांदी और सर्द हवाओं से जनजीवन प्रभावित रहा। देहरादून स्थित मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि शुक्रवार से मौसम राहत देगा। ज्यादातर इलाकों में धूप खिली रहेगी।

पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

2.हार्इ कोर्ट ने दिए मानव तस्करी पर शिकंजा कसने के आदेश

जेएनएन, नैनीताल। हार्इकोर्ट ने बनबसा शारदा बैराज क्षेत्र में मानव तस्करी से जुड़े एक मामले पर सुनवार्इ की। सुनवार्इ के बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए राज्य सरकार को मानव तस्करी खासकर नाबालिग लड़कियों की तस्करी पर शिकंजा कसने के कड़े निर्देश दिए हैं।

पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

3. उत्तराखंड का 250 किलोमीटर हिस्सा भूकंप का लॉक्ड जोन

जेएनएन, देहरादून। देहरादून से टनकपुर के बीच करीब 250 किलोमीटर क्षेत्रफल भूकंप का लॉक्ड जोन बन गया है। इस क्षेत्र की भूमि लगातार सिकुड़ती जा रही है और धरती के सिकुड़ने की यह दर सालाना 18 मिलीमीटर प्रति वर्ष है। यानी इस पूरे भूभाग में भूकंपीय ऊर्जा संचित हो रही है, लेकिन ऊर्जा बाहर नहीं निकल पा रही। यह बात नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी नई दिल्ली के अध्ययन में सामने आई हैं और हाल ही में देहरादून में आयोजित 'डिजास्टर रेसीलेंट इंफ्रांस्ट्रक्चर इन दि हिमालयाज: अपॉर्च्युनटीज एंड चैलेंजेज' वर्कशॉप में सेंटर के निदेशक डॉ. विनीत गहलोत ने इस अध्ययन को साझा किया। 

पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

4.सेंट्रल थ्रस्ट में भूकंप की सर्वाधिक हलचल, धरती से 15-20 किमी गहराई में रहा केंद्र

जेएनएन, नैनीताल। भूकंप की दृष्टि से उत्तराखंड के उत्तरकाशी, पिथौरागढ़, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर जोन पांच और नैनीताल, अल्मोड़ा जोन चार में हैं। राज्य के मुनस्यारी, धारचूला, चमोली, उत्तरकाशी, कपकोट, मंदाकिनी घाटी से नेपाल तक मेन सेंट्रल थ्रस्ट गुजरती है। इसी थ्रस्ट में शाम को आए भूकंप से सर्वाधिक हलचल दखने को मिली है। इसके अलावा नॉर्थ अल्मोड़ा थ्रस्ट रामेश्वर, घाट, सरयू, भैंसियाछाना, सेराघाट, द्वाराहाट, श्रीनगर आदि से गुजरती है। वैज्ञानिकों के अध्ययन से पता चला है कि राज्य में भूकंप का केंद्र धरती से 15-20 किमी गहराई में है। 

पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 5. कर्णप्रयाग में कार हादसे में दो लोगों की मौत, एक घायल

जेएनएन, चमोली। कर्णप्रयाग ब्‍लॉक के अंतर्गत मैखुरा-सिलंगी मोटर मार्ग पर बुधवार रात हुई वाहन दुर्घटना में दो लोगों की मौत हो गई, जबकि एक अन्य घायल हो गया। घायल को उपचार के लिए सीएचसी कर्णप्रयाग में दाखिल कराया गया है।

पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

उत्तराखंड की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Sunil Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप