देहरादून, राज्य ब्यूरो। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को उत्तराखंड में लागू करने के लिए शिक्षा महकमे ने मंथन प्रारंभ कर दिया है। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय मंगलवार को वर्चुअल स्टूडियो के माध्यम से महकमे के अधिकारियों एवं अन्य लोगों का फीडबैक लेंगे। अकादमिक शोध एवं प्रशिक्षण निदेशक सीमा जौनसारी राज्य में नई नीति के क्रियान्वयन को लेकर ड्राफ्ट को अंतिम रूप देने में जुटी हैं। इसे कैबिनेट के समक्ष रखा जाएगा। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय का कहना है कि केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की ओर से जारी नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लेकर उत्तराखंड उत्साहित है।

इससे पहले नीति के प्रस्ताव पर रायशुमारी में राज्य से विभिन्न स्तरों पर बड़ी भागीदारी रही है। उन्होंने कहा कि नई नीति को उत्तराखंड में किसतरह लागू करना है, इस पर विचार-विमर्श प्रारंभ हो चुका है। इस संबंध में शिक्षाधिकारियों का फीडबैक बेहद जरूरी है। मंगलवार को वह खुद वर्चुअल स्टूडियो के क्रियान्वयन के संबंध में विस्तार से चर्चा करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में प्री-प्राइमरी, आंगनबाड़ी केंद्रों और कार्यकर्ताओं की भूमिका के बारे में पहले भी मंथन किया जा चुका है।

यह भी पढ़ें: कोरोना काल का दस्तावेज बनेगा 'त्राहिमाम' गीत, जानिए कौन हैं गायक और किसने लिखे हैं बोल

राज्य में नई नीति को लागू करने के बारे में अकादमिक शोध एवं प्रशिक्षण निदेशक सीमा जौनसारी को विस्तृत ड्राफ्ट तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं। वर्चुअल स्टूडियो में सीमा जौनसारी नई शिक्षा नीति पर विस्तार से प्रस्तुतीकरण भी देंगी। इस पर विभिन्न पहलुओं को ध्यान में रखकर चर्चा का दौर अभी जारी रहेगा। बाद में नई शिक्षा नीति को लागू करने का ड्राफ्ट तैयार कर कैबिनेट के समक्ष रखा जाएगा।

यह भी पढ़ें: दून में फिलहाल सिर नहीं उठा पाया डेंगू का डंक, चलाया जा रहा है एंटी डेंगू अभियान

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021