देहरादून, जेएनएन। मार्च में कोरोना की दस्तक के बाद लॉकडाउन और तमाम झंझावतों के बाद अब सबकुछ सामान्य होने की दिशा में है। अनलॉक-5 में सरकार ने तकरीबन हर तरह की छूट दे रखी है, जिसका असर सड़कों और बाजारों में साफ नजर आने लगा है। यह राहत की बात तो है, लेकिन यातायात नियमों के लिहाज से अब और अधिक सतर्क होने की आवश्यकता है। सड़कों पर वाहनों की बढ़ती आमदरफ्त के बीच तेज रफ्तार का किसी भी तरह की लापरवाही भारी पड़ सकती है।

जरा इस साल हुए सड़क हादसों पर गौर करें तो मार्च से लेकर मई तक हुए केवल 26 सड़क हादसे हुए। वहीं अब संख्या 176 पहुंच गई है। अनलॉक की प्रक्रिया के साथ ही देहरादून जिले में सड़क हादसों का बढ़ता ग्राफ चिंता बढ़ाने वाला है। मार्च से लेकर मई तक लॉकडाउन के दौरान जहां केवल 26 सड़क हादसे हुए थे। वहीं, जुलाई से लेकर अक्टूबर तक के आंकड़ों को जोड़ लिया जाए तो संख्या और ने पौने दो सौ से ऊपर पहुंच गई है। यह आंकड़े गत वर्ष की तुलना में फिर भी कम हैं, लेकिन जिस तरह से आए दिन सड़क हादसों के मामले सामने आ रहे हैं। उससे अधिकारी भी चिंता में पड़ गए हैं।

कोरोना की वजह से भले ही सैकड़ों जिंदगियां असमय काल के गाल में समा गई हों, लेकिन मार्च के बाद दो महीने चले लॉकडाउन के दौरान सड़क हादसों का ग्राफ एकदम से नीचे आ गया था। इसकी वजह यह थी कि कोरोना संक्रमण के खौफ से सड़कों पर लोगों का आना जाना एकदम से बंद हो गया था। वाहनों के न चलने से या फिर संख्या बेहद सीमित होने के कारण हादसों की गुंजाइश भी कम हो गई थी। लेकिन अब हालात एक बार फिर से बदलने लगे हैं। अनलॉक की प्रक्रिया शुरू होने के साथ ही जब सड़कों पर वाहनों की आमदरफ्त पहले के दिनों जैसी होने लगी तो हादसे भी सिर उठाने लगे।

2020 में हुए सड़क हादसे व मौत

  • माह------हादसे---मौत---घायल
  • जनवरी----24----12------45
  • फरवरी----33----15------24
  • मार्च------13------8------10
  • अप्रैल-----2-------1--------1
  • मई------11-------1------10
  • जून-----17--------7------15
  • जुलाई--14-------7---------8
  • अगस्त-16-------5-------12
  • सितंबर--21-----13------10
  • अक्टूबर-15------5-------13
  • योग-----176---74-----140

वर्ष 2019 में हादसे

  • कुल सड़क हादसे: 328
  • मौत: 168
  • घायल: 288 

डीआइजी अरुण मोहन जोशी का कहना है कि अनलॉक की प्रक्रिया के दौरान सड़कों पर आवागमन सामान्य होने लगा है। हाल के दिनों में हुए सड़क हादसों को लेकर एसपी ट्रैफिक को कार्ययोजना बनाने और हादसों की दृष्टि से संवेदनशील क्षेत्र में एहतियाती उपाय करने के निर्देश दिए गए हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस