जागरण संवाददाता, देहरादून। सचिवालय में नौकरी लगवाने के नाम पर शातिर ने एक युवक से डेढ़ लाख रुपये ठग लिए। काफी समय बाद भी जब पीड़ित को नौकरी नहीं मिली तो उसने अपनी रकम वापस मांगी, मगर आरोपित ने जान से मारने की धमकी दी। नेहरू कालोनी थाना पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

इंस्पेक्टर राकेश गुसाईं ने बताया कि वर्ष 2017 में चंदन सिंह निवासी ग्राम चमोली, रानीखेत, अल्मोड़ा की मुलाकात अरविंद सुंदरियाल निवासी नत्थनपुर से हुई थी। आरोपित ने कहा कि वह सचिवालय में नौकरी करता है और वहां उसकी भी नौकरी लगवा सकता है। आरोपित ने पीड़ित से एक लाख, 49 हजार रुपये अलग-अलग किश्तों में ले लिए, लेकिन नौकरी नहीं लगी। इस मामले में पीड़ित ने रानीखेत में पुलिस को शिकायत दी, लेकिन मुकदमा दर्ज नहीं हुआ। इंस्पेक्टर ने बताया कि आरोपित का भाई सचिवालय में नौकरी करता है। वह पूर्व में कई अन्य युवकों को ठग चुका है। अभी वह फरार है। उसकी तलाश की जा रही है।

मैक्स अस्पताल के निदेशक के घर से गहने चोरी

मैक्स अस्पताल के निदेशक डा. रविकांत गुप्ता के घर से नकदी व गहने चोरी हो गए। राजपुर थाना पुलिस के अनुसार डा. गुप्ता ने बताया कि उनका किशनपुर, राजपुर में घर है। घर पर उन्होंने दो नौकर रखे हुए थे। इनमें से प्रेम कुमार मूल रूप से नेपाल का रहने वाला है, जोकि एक साल से घर पर काम कर रहा था, जबकि बांदा उत्तर प्रदेश के रहने वाले किरन सिंह को एक महीने पहले ही काम पर रखा था।

निदेशक ने बताया कि वह 31 जुलाई को परिवार सहित हरिद्वार गए हुए थे। एक अगस्त को जब वह अपने घर पहुंचे तो देखा कि बाथरूम की खिड़की टूटी हुई थी, जबकि आलमारी खुली हुई थी। उन्होंने बताया कि घर से करीब 35 हजार रुपये नकदी व कुछ गहने गायब हैं। घटना के बाद से दोनों नौकर फरार हैं। एसओ राजपुर राकेश शाह ने बताया कि किरन सिंह व प्रेम कुमार के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ें:-हल्द्वानी के उप कारागार में बंदी की मौत मामले में CBI ने किया मुकदमा दर्ज, जानिए क्या है पूरा मामला

Edited By: Sunil Negi