देहरादून, [राज्य ब्यूरो]: मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मानसून सीजन में किसी भी संभावित आपदा से निबटने के लिए पूरी तैयारी रखने और निगरानी के मद्देनजर तहसील स्तर पर ड्रोन उपलब्ध कराने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये आपदा प्रबंधन की समीक्षा करते हुए उन्होंने आपदा की स्थिति में कम्युनिकेशन बाधित न होने देने, रेस्पांस टाइम पर विशेष ध्यान देने, आपदा प्रबंधन संबंधी प्रशिक्षण सुनिश्चित करने और जरूरी उपकरणों की खरीद करने के निर्देश भी दिए। 

मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारियों से सभी जिलों में आपदा प्रबंधन से संबंधित तैयारियों की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि प्रशासन को किसी भी स्थिति से निबटने के लिए हर वक्त तैयार रहना चाहिए। चिह्नित स्थलों पर भोजन, पेयजल, कैरोसिन, दवाइयां व अन्य जरूरी सामग्री की व्यवस्था सुनिश्चित करने और राशन की गुणवत्ता समय-समय पर जांचने को भी कहा। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि सभी बाढ़ सुरक्षा चौकियों को 15 जून तक क्रियाशील कर लिया जाए। 

सेना से मिलेगा पूर्ण सहयोग 

मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा की स्थिति में सेना से पूर्ण सहयोग मिलेगा। इस बारे में उनकी सेना प्रमुख से बात हुई है। उन्होंने अ‌र्द्धसैनिक बलों के साथ भी समन्वय स्थापित करने को कहा। बैठक में अपर मुख्य सचिव डॉ.रणवीर सिंह, सचिव आपदा प्रबंधन अमित नेगी व अपर सचिव सबिन बंसल आदि मौजूद थे। 

ये भी दिए निर्देश 

-कंट्रोल रूम चौबीसों घंटे हों संचालित

-पर्यटकों को नदियों के समीप न जाने को करें आगाह 

-ट्रैफिक प्रबंधन पर भी दिया जाए जोर -अतिक्रमण हटाने को हो जरूरी कार्रवाई

यह भी पढ़ें: उत्‍तराखंड में मौसम ने बदली करवट, पर्वतीय जिलों में रात भर हुई बारिश

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के चमोली में फटा बादल, आकाशीय बिजली गिरने से एक की मौत