देहरादून, जेएनएन। सीनियर वूमेन वन डे लीग में उत्तराखंड की टीम को मेघालय से करारी हार का सामना करना पड़ा है। उसने उत्तराखंड को दस विकेट से हराया।

भुवनेश्वर के केआइआइटी क्रिकेट स्टेडियम में उत्तराखंड व मेघालय के बीच सीनियर वूमेन वन डे लीग का मुकाबला खेला गया। उत्तराखंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी। 

उत्तराखंड टीम की सलामी बल्लेबाज मेघा सैनी व मधवाल बिना खाता खोले पवेलियन लौटीं। इसके बाद कंचन परिहार (0), प्रीति भंडारी (01), लक्ष्मी बसेरा (0) व राधा चंद (03) भी कुछ खास नहीं कर सकी। 

निचले क्रम में ममता कोठियाल (17) व मनीषा प्रधान (31) ने टीम को संभालने की कोशिश की, लेकिन दोनों ज्यादा देर नहीं टिक सकीं। उत्तराखंड की टीम 40.4 ओवर में मात्र 101 रनों पर सिमट गई। कप्तान रेखा ने नाबाद (25) रनों की पारी खेली। 

मेघालय के लिए वंदना महाजन ने चार, त्रिसा व पिंकी चंदा ने दो-दो विकेट झटके। टीम उत्तराखंड के 102 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी मेघालय टीम की सलामी जोड़ी ने बिना विकेट गंवाए 30 ओवर में 103 रन बना कर जीत दर्ज की। नाबाद पारी खेलते हुए मेघालय की बल्लेबाज साई पुरंदरे ने 80 गेंदों में (62) व डीडी दत्ता ने 103 गेंदों में (34) रनों की पारी खेली।

उत्तराखंड के खिलाड़ियों पर बीसीसीआइ की नजर

पहली बार बीसीसीआइ के घरेलू सत्र में खेल रही उत्तराखंड टीम ने अपने प्रदर्शन से सभी का ध्यान अपनी ओर खींचा है। इस घरेलू सत्र में कई बार बीसीसीआइ अधिकारी उत्तराखंड पहुंचे और उन्होंने खिलाड़ियों के प्रदर्शन को देखा और तारीफ की। 

सूत्रों के अनुसार खिलाड़ियों का प्रदर्शन देखते हुए बीसीसीआइ उत्तराखंड के अंडर-19 टीम के कुछ खिलाड़ियों को भारतीय जूनियर टीम कैंप में शामिल कर सकता है। 

18 वर्षो के लंबे इंतजार के बाद जब उत्तराखंड की टीम बीसीसीआइ के घरेलू सत्र में खेलने के लिए उतरी टीम ने अपनी साख तो बनाई ही साथ ही बीसीसीआइ अधिकारियों को भी अपने खेल से प्रभावित किया। उत्तराखंड अंडर-16 टीम को छोड़ अन्य सभी टीमों ने अभी तक शानदार प्रदर्शन किया है। 

रणजी ट्रॉफी में भी उत्तराखंड टीम का प्रदर्शन शानदार रहा। इसके अलावा सीके नायडू ट्रॉफी, कूच बिहार ट्रॉफी व सीनियर वूमेन वन डे लीग में भी उत्तराखंड की टीमों ने अपनी योग्यता साबित की। उत्तराखंड के प्रदर्शन से प्रभावित होकर बीसीसीआइ के अधिकारियों ने कई बार उत्तराखंड का रूख भी किया। 

बीते दस दिसंबर से तनुष क्रिकेट ग्राउंड में मेघालय के साथ खेले गए कूच बिहार ट्रॉफी के मुकाबले में उत्तराखंड ने दो दिन में ही पारी व 352 रनों से जीत दर्ज की थी। इस मैच को देखने के लिए भारतीय जूनियर टीम के चयनकर्ता राकेश पारिक भी तनुष ग्राउंड में मौजूद रहे। 

हालांकि इस दौरान उन्होंने मीडिया से दूरी बनाई रखी। क्रिकेट सूत्रों के मुताबिक राकेश पारिक उत्तराखंड के खिलाड़ियों से खासा प्रभावित नजर आए, उन्होंने खिलाड़ियों के प्रदर्शन की प्रशंसा की और उन्हें प्रतिभाशाली बताया। 

इस मैच में बल्लेबाज अवनीश सुधा ने दोहरा शतक लगाते हुए 221 व सनयम ने 176 रनों की पारी खेली थी। वहीं गेंदबाज हरमन ने आठ व एस जुयाल ने सात विकेट चटकाए थे। सूत्रों के मुताबिक बीसीसीआइ के रूख से अंडर-19 टीम के कुछ खिलाड़ियों को भारतीय जूनियर टीम के कैंप के लिए न्योता मिल सकता है।

यह भी पढ़ें: काशीपुर के मोहन व नैनीताल की मनीषा ने ओपन क्रॉस कंट्री में मारी बाजी

यह भी पढ़ें: औली में होगी राष्ट्रीय जूनियर स्कीइंग प्रतियोगिता, बर्फ की मशीन तैयार

यह भी पढ़ें: औली में विंटर गेम्स पर भारी पड़ रहा फेडरेशनों का विवाद

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप