छात्राओं को किया स्वच्छता के प्रति जागरूक

संवाद सूत्र, त्यूणी : राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र क्वांसी की ओर से छात्राओं को मासिक धर्म और स्वच्छता के बारे में जागरूक किया गया। अस्पताल के प्रभारी चिकित्साधिकारी व महिला चिकित्साधिकारी ने स्वयं के संसाधनों से स्कूली छात्राओं, आशा फैसिलिटेटर व आंगनबाड़ी कार्यकर्त्ताओं को आधुनिक तकनीक से बने 300 सेनेटरी पैड बांटे। महिला चिकित्साधिकारी डा. आस्था राठौर ने कहा कि इसके उपयोग से संक्रमण का खतरा नहीं रहेगा।

आजादी का अमृत महोत्सव पर जौनसार के सीमांत राइंका क्वांसी में छात्राओं के लिए मासिक धर्म की स्वच्छता के संबंध में जाकरूकता शिविर का आयोजन किया गया। इसमें पीएचसी क्वांसी के प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. सचिन गुप्ता व महिला चिकित्साधिकारी डा. आस्था राठौर ने छात्राओं से सीधे संवाद स्थापित कर बिना किसी संकोच के मासिक धर्म की प्रक्रिया एवं शारीरिक स्वच्छता के बारे में विस्तार से बताया। महिला चिकित्साधिकारी डा. आस्था राठौर ने छात्राओं को मासिक धर्म के समय होने वाले संक्रमण से बचाव व स्वच्छता के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी। महिला चिकित्साधिकारी ने कहा कि सीमांत क्षेत्रों में अधिकांश छात्राएं व महिलाएं मासिक धर्म पर किसी प्रकार की चर्चा व बात करने से संकोच करती हैं। महिला समाज में मासिक धर्म कोई समस्या नहीं, बल्कि जीवन प्रक्रिया का एक हिस्सा है। जागरूकता की कमी से मासिक धर्म के समय स्वच्छता का ध्यान नहीं रखने से संक्रमण का खतरा रहता है। जिससे बचाव को आधुनिक तकनीक से बने सेनेटरी पैड का इस्तेमाल करने से संक्रमण का खतरा नहीं रहेगा। नई तकनीक से बने इस सेनेटरी पैड को त्वचा के अनुकूल बनाया गया है। इसमें सामान्य सेनेटरी पैड के मुकाबले सोखने की क्षमता तीन से चार गुना ज्यादा है। इस मौके पर फार्मेसिस्ट कल्पना, गंभीर, दीक्षा, अरुणा, निशा आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran