देहरादून, जेएनएन। Uttarakhand Coronavirus News Update उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। गुरुवार को कोरोना के 199 नए मामले सामने आए हैं, जिनमें सबसे ज्यादा 91 मामले ऊधमसिंह नगर से हैं। इसके अलावा 34 नैनीताल, 27 देहरादून, दस टिहरी गढ़वाल, 30 हरिद्वार, तीन-तीन चमोली और पौड़ी गढ़वाल, एक चंपावत में सामने आया है। वहीं, 47 लोग पूरी तरह से ठीक हो गए हैं। प्रदेश में अब संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 3982 हो गया है, जबकि 2995 मरीज पूरी तरह से ठीक होकर अस्पतालों से डिस्चार्ज हो चुके हैं। अबतक 50 की मौत भी हो चुकी है। वर्तमान में 904 मामले एक्टिव हैं, जबकि 33 मरीज राज्य से बाहर चले गए हैं। 

कोरोना को लेकर उठाए जाएं जरूरी कदम 

उत्तराखंड में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मुख्य सचिव और सचिव स्वास्थ्य के साथ विचार-विमर्श किया। उन्होंने कहा कि हर संभव उपाय पर पूरी गहनता से विचार करते हुए आवश्यक कदम उठाए जाएं। जरूरी समझे जाने पर राज्य की सीमाएं सील करने पर और साथ ही पूरे प्रदेश में शनिवार और रविवार को पूरी तरह से लॉकडाउन करने पर भी गंभीरता से विचार किया जाए। जिन लोगों की होटलों में बुकिंग है उन्हें कुछ शर्तों के साथ आने की छूट रहे। साथ ही जरूरी कार्य से उत्तराखंड आ रहे लोगों को भी आने की इजाजत मिले।

हरिद्वार में मल्टीनेशनल कंपनी के 20 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव

हरिद्वार में सिडकुल की नामी-गिरामी मल्टीनेशनल कंपनी के 20 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। सीएमओ की ओर से संबंधित कंपनी में स्वास्थ्य विभाग की टीम भेजी गई है, जो पूरे मामले की जानकारी जुटा रही है। जिलाधिकारी ने भी सीएमओ समेत सभी नोडल अधिकारियों की बैठक लेकर सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों कंपनी का आर्यनगर निवासी पहला पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद यूनिट में मौजूद 50 कर्मचारियों को पिछले दिनों होम क्वॉरेंटाइन किया गया था। सभी के सैंपल लिए गए थे। प्राइवेट लैब की जांच रिपोर्ट में 20 कर्मचारी पॉजिटिव पाए गए हैं। सीएमओ डॉक्टर शंभू नाथ झा ने बताया कि कंपनी में करीब डेढ़ हजार कर्मचारी काम करते हैं। इन सभी की सैंपलिंग की तैयारी की जा रही है।

टनकपुर में सैलून संचालक कोरोना पॉजिटिव

टनकपुर में मुख्य बाजार से सटे मस्जिद मार्ग के एक सैलून संचालक युवक में कोरोना की पुष्टि हुई है। एहतियातन स्वास्थ्य विभाग ने युवक को ट्रामा सेंटर में आइसोलेट कर दिया है। सीएमएस एचएस ह्यांकी ने बताया कि युवक इससे पहले दिल्ली में सैलून की दुकान में काम करता था। बीती 14 जुलाई को स्वास्थ्य विभाग ने सभी सैलून संचालकों की सैंपलिंग की थी। युवक में सैंपलिंग के वक्त कोरोना के किसी भी प्रकार के लक्षण नहीं थे। वह परिजनों के साथ घर पर ही रह रहा था। जानकारी के मुताबिक युवक खुद ही अपनी सैंपलिंग के लिए आया हुआ था, जिसके बाद गुरुवार को युवक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। स्वास्थ्य विभाग ने युवक के संपर्क में आए परिजनों को होम क्वारंटाइन के निर्देश दिए हैं। साथ ही अन्य लोगों को ट्रेस किया जा रहा है।

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार बुधवार को 2178 सैंपलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई है। इनमें 2074 मामलों में रिपोर्ट निगेटिव और 104 की पॉजिटिव आई है। देहरादून जनपद में सबसे अधिक 52 संक्रमित मिले हैं। इनमें 25 लोग ऐसे हैं जो कि पूर्व में संक्रमित मरीजों के संपर्क में आए हुए हैं। नैनीताल में भी 24 और लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इनमें 14 लोगों की ट्रेवल हिस्ट्री अभी पता नहीं लगी है। सात लोग पूर्व में संक्रमित मिले मरीजों के संपर्क में आए हैं। दो गर्भवती महिलाएं भी संक्रमण की चपेट में आई हैं। इसके अलावा उत्तरकाशी में आठ लोग संक्रमित मिले हैं। इनमें आइटीबीपी का एक जवान भी है। तीन की ट्रेवल हिस्ट्री अभी पता नहीं लग पाई है, जबकि अन्य लेह, केरल व अमरोहा से लौटे लोग हैं।

कुमाऊं मंडल के चार जिलों में 36 लोग संक्रमित मिले। नैनीताल में सर्वाधिक 24 लोग संक्रमित पाए गए। इनमें दो गर्भवती, सात संक्रमितों के संपर्क में आने वाले, एक बिहार निवासी युवक व 14 अन्य लोग अलग-अलग क्वारंटाइन थे। पिथौरागढ़ में सात कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। जिसमें पांच एसएसबी जवान शामिल हैं, ये दस दिन पहले जम्मू कश्मीर से आए थे और संस्थागत क्वारंटाइन में थे। दस दिन पूर्व हैदराबाद और महाराष्ट्र से आए दो क्वारंटाइन प्रवासी भी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।

चम्पावत में टनकपुर निवासी 30 वर्षीय महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। ऊधमसिंहनगर में प्रवासी यात्रियों के बाद अब संपर्क में आए लोग संक्रमित मिलने लगे हैं। बाजपुर में कंटेनमेंट जोन घोषित किए गए वार्ड संख्या एक में परिवार के चार सदस्यों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। यहां 10 जुलाई को 60 वर्षीय वृद्धा की मौत हो गई थी। टायफाइड का इलाज करा रही महिला की मृत्यु के बाद कोरोना संक्रमण की भी पुष्टि हुई थी। जिसके बाद परिवार के अन्य सदस्यों के भी सैंपल लिए गए थे। इनमें दो पोते, एक पोती व बहू की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। हरिद्वार में एक स्वास्थ्य कर्मी समेत पांच और लोग कोरोना की चपेट में आये हैं। पौड़ी व चंपावत में भी एक-एक नया मामला मिला है। बुधवार को स्वस्थ हुए मरीजों में 32 देहरादून, 21 ऊधमसिंहनगर, 11 उत्तरकाशी, छह पौड़ी, चार अल्मोड़ा, चार नैनीताल, दो चंपावत व एक हरिद्वार से है।

दून में कोरोना का आंकड़ा 900 पार

कोरोना वायरस दून में अपना असर कुछ ज्यादा ही दिखा रहा है। यहां पर चार माह पहले वायरस के संक्रमण का जो सिलसिला शुरू हुआ था वह थमने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसा कोई दिन नहीं जब दून में कोरोना का नया मामला नहीं आ रहा। बुधवार को भी देहरादून में 52 और लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। इनमें सात सेना और दो आइटीबीपी के जवान भी शामिल हैं। वहीं सेलाकुई स्थित एक फैक्ट्री में काम करने वाले नौ लोग भी पॉजिटिव पाए गए हैं। बता दें, जिले में अब तक 936 लोगों में कोरोना की पुष्टि हो चुकी है। जिनमें 698 स्वस्थ हो गए हैं। स्थिति यही रही तो अगले एकाध दिन में मरीजों का यह ग्राफ एक हजार को पार कर जाएगा।

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. बीसी रमोला के अनुसार संक्रमित पाए गए लोगों में 20 सेलाकुई स्थित एक सेंटर में क्वारंटाइन थे। इसके साथ ही एयरपोर्ट पर की जा रही स्क्रीनिंग में 15 लोगों में कोरोना संक्रमण पाया गया है। इसी तरह सेना के सात जवानों की भी रिपोर्ट पॉजिटिव है। जबकि एक मरीज पहले से अस्पताल में भर्ती था। जिसमें कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। आइटीबीपी के दो जवानों में भी कोरोना संक्रमण मिला है। उधर, तीन लोग विकासनगर क्षेत्र से भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इनमें आठ साल का एक बच्चा भी शामिल है। दो ऐसे मरीज भी हैं जिनका दिल्ली से लौटते वक्त आशारोड़ी चेक पोस्ट पर सैंपल लिया गया था।

एकाएक इतने मरीज आने से हड़कंप

बुधवार को एक साथ 52 मरीजों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने से हड़कंप मचा रहा। दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अधिकारी मरीजों को भर्ती करने और उनके उपचार की व्यवस्था में लगे रहे। बताया कि बुधवार को पॉजिटिव आए मरीजों में बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक शामिल हैं। इनमें कुछ की हालत गंभीर भी है। जिन्हें कभी भी आइसीयू और वेंटिलेटर की जरूरत पड़ सकती है। ऐसे में सभी को सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. बीसी रमोला ने बताया कि सभी मरीजों की स्थिति पर नजर रखी जा रही है और उन्हें समुचित उपचार दिया जा रहा है।

व्यापारियों ने की रैंडम सैंपलिंग की मांग

पलटन बाजार में कोरोना की दस्तक से व्यापारियों में हड़कंप मचा हुआ है। व्यापारियों ने रैंडम सैंपलिंग की मांग की है। इस संबंध में क्रेजी वॉरियर व्यापार मंडल के प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को सीएमाओ डॉ. बीसी रमोला को ज्ञापन सौंपा। व्यापारियों ने ज्ञापन में कहा कि पलटन बाजार, हनुमान चौक, धामावाला, दर्शनी गेट, मोती बाजार, तहसील बाजार, डिस्पेंसरी रोड और पुरानी सब्जी मंडी राजधानी के प्रमुख बाजार हैं। यहां रोजाना सैकड़ों की संख्या में लोग खरीदारी के लिए पहुंचते हैं। मंगलवार को पलटन बाजार में एक दुकान में काम करने वाले सेल्समैन के कोरोना संक्रमित मिलने से व्यापारियों में भय बना हुआ है। ज्ञापन देने वालों में व्यापार मंडल के अध्यक्ष अक्षत जैन, अशोक बंसल आदि शामिल रहे।

आढ़त बाजार में आज से नौ घंटे ही होगा कारोबार

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए आढ़त बाजार के व्यापारियों ने स्वयं ही सुरक्षा के कदम उठाए हैं। आढ़त बाजार गुरुवार से 13 घंटे के बजाय नौ घंटे ही खुलेगा। थोक व्यापारियों ने इसमें चार घंटे की कटौती की है। सुबह नौ बजे से शाम छह बजे तक ही यहां कारोबार के लिए दुकानें खुली रहेंगी।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: देहरादून में कोरोना का वार, अब तक का आंकड़ा 900 पार

आढ़त बाजार होलसेल डीलर्स एसोसिएशन के महासचिव विनोद गोयल की अध्यक्षता में बुधवार दोपहर बाद व्यापारियों की बैठक हुई। जिसमें कोरोना वायरस से उत्पन्न गंभीर स्थिति से बचाव के लिए स्वयं फैसले लेने का निर्णय लिया गया। बताया कि आढ़त बाजार में गुरुवार से दैनिक कारोबार के समय में चार घंटे की कटौती की गई है। जिसमें सर्वसम्मति से सहमति व्यक्त की गई। बैठक में आढ़त बाजार होलसेल डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद गोयल, उपाध्यक्ष शेखर भाटिया, कनिष्ठ उपाध्यक्ष अजय गुप्ता आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Coronavirus News Update: उत्तराखंड में कोरोना के 45 नए मामले, 12 मरीज हुए ठीक

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस