देहरादून, जेएनएन। Uttarakhand Coronavirus News Update उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण का ग्राफ लगातार बढ़ता ही जा रहा है। शनिवार को 45 नए मामले सामने आएउत्तराखंड में कोरोना संक्रमण का ग्राफ लगातार बढ़ता ही जा रहा है। शनिवार को 45 नए मामले सामने आए हैं, जिनमें सबसे अधिक मामले 21 देहरादून, 14 ऊधमसिंह नगर, तीन-तीन अल्मोड़ा और हरिद्वार में सामने आए हैं। इसके अलावा दो टिहरी गढ़वाल, एक-एक मामले चमोली और रुद्रप्रयाग में सामने आए हैं। वहीं, 12 संक्रमित पूरी तरह से ठीक हुए हैं। प्रदेश में संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 3417 हो गया है, जबकि 2718 लोग पूरी तरह से ठीक हुए हैं। वर्तमान में 623 मामले एक्टिव हैं, जबकि 46 लोगों की मौत हो चुके हैं। 30 मरीज राज्य से बाहर चले गए हैं। राज्य में सबसे अधिक 836 मामले देहरादून में सामने आए हैं। हालांकि, इनमें से 654 लोग पूरी तरह से स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं।  

पिछले 24 घंटे में दो लोगों में कोरोना की पुष्टि 

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान(एम्स) ऋषिकेश में पिछले 24 घंटे में दो लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इस बाबत संस्थान की ओर से स्टेट सर्विलांस ऑ​फिसर को सूचित कर दिया गया है। एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल ने बताया कि वीरभद्र मार्ग टिहरी विस्थापित क्षेत्र निवासी एक दो वर्षीय बालक बीती नौ जुलाई को  बुखार की शिकायत के साथ एम्स ओपीडी में आया था, जहां बच्चे का कोरोना का सैंपल लिया गया। इसकी रिपोर्ट शनिवार को कोविड पॉजिटिव पाई गई है। बताया गया कि इस बच्चे के दादा और परदादा पूर्व में कोविड संक्रमित हो चुके हैं, जिनका एम्स इलाज चल रहा है। संभवत: यह बच्चा उनके संपर्क में आने से संक्रमित हुआ है। दूसरा मामला रुड़की क्षेत्र का है। रुड़की निवासी 52 वर्षीय पुरुष जिसे राजकीय चिकित्सालय रुड़की से बीती नौ जुलाई को एम्स के लिए रेफर किया था, जिसे बुखार और खांसी की शिकायत थी। उस व्यक्ति का एम्स में नौ जुलाई को सैंपल लिया, जिसकी शनिवार को रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। 

एम्स में संक्रमितों मरीजों का रिकवरी रेट बढ़कर 82 फीसद 

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश में कोविड-19 से संक्रमित होने वाले मरीजों का रिकवरी रेट बढ़कर 82 प्रतिशत हो गया है। संस्थान के कोविड वॉर्ड में अब कोरोना के महज 20 एक्टिव केस ही रह गए हैं। अन्य गंभीर बीमारी ग्रसित संक्रमित दस मरीजों की मौत हुई है। एम्स के कोविड-19 नोडल अधिकारी डॉ. मधुर उनियाल ने बताया कि एम्स में अब तक 163 कोरोना संक्रमित मरीजों को उपचार के लिए भर्ती किया गया। इनमें से 133 मरीज स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। वर्तमान में जो मरीज यहां भर्ती है इनमें से कोई भी मरीज वेंटिलेटर पर नहीं है।    

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार को कुल 2061 सैंपलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई है। इनमें 1993 की रिपोर्ट निगेटिव और 68 पॉजिटिव आई हैं। ऊधमसिंहनगर में सबसे अधिक 41 और लोग में कोरोना की पुष्टि हुई है। इनमें 24 लोग वे हैं जो काशीपुर में एक बरात में शामिल हुए थे। बारह लोग पूर्व में संक्रमित मरीजों के संपर्क में आए हैं। जबकि तीन क्रमश: दिल्ली, यूपी व कुवैत से लौटे हैं। इनके अलावा बाजपुर क्षेत्र के ग्राम चकरपुर में एक ही परिवार के सात लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। गांव को कंटेनमेंट जोन घोषित कर सील कर दिया गया है। नैनीताल में भी चार व्यक्ति संक्रमित पाए गए हैं। इनमें एक स्वास्थ्य कर्मी भी शामिल है। चंपावत चम्पावत जिले के टनकपुर में आठ माह के बच्चे समेत दो कोरोना संक्रमित केस मिले हैं। इनकी ट्रेवल हिस्ट्री अभी पता नहीं लगी है।

हरिद्वार में सात नए मामले मिले हैं। इनमें छह लोग पूर्व में पॉजिटिव मिले मरीजों के संपर्क में आए हैं और एक हैदराबाद से वापस लौटा व्यक्ति है। इसके अलावा पौड़ी, टिहरी व उत्तरकाशी में एक-एक मामला हैं। ये लोग गाजियाबाद, सऊदी अरब व बिहार से वापस लौटे हैं। देहरादून में 11 नए मामले सामने आए हैं। इधर, देहरादून से 21, बागेश्वर से सात, ऊधमसिंहनगर से पांच और पौड़ी से एक मरीज ठीक हुआ है।

दो स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों सहित 11 और संक्रमित

दून में शुक्रवार को भी 11 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। जिले में कोरोना के सर्वाधिक 816 मामले आए हैं। हालांकि, इनमें 648 स्वस्थ हो चुके हैं। कोरोना संक्रमित 27 लोगों की जिले में मौत हो चुकी है, जबकि 19 बाहर जा चुके हैं। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. बीसी रमोला ने बताया कि हिमालयन अस्पताल, जौलीग्रांट की एक नìसग स्टाफ की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। 

वहीं एम्स ऋषिकेश से आठ सैंपल की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिनमें एम्स का एक नर्सिंग ऑफिसर भी शामिल है। एम्स में जांच के लिए आई ब्रेस्ट कैंसर से ग्रसित मुजफ्फरनगर निवासी एक महिला में संक्रमण की पुष्टि हुई है। महिला वर्तमान में मुजफ्फरनगर अपने घर पर है,जिसकी सूचना वहां के मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दे दी गई है। बुखार व गले में खराश की शिकायत पर अस्पताल आए हरिद्वार निवासी एक शख्स की भी रिपोर्ट पॉजिटिव है। वहीं टिहरी विस्थापित क्षेत्र पशुलोक निवासी एक बुजुर्ग में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। उनका पुत्र भी कोरोना संक्रमित है। 

उन्होंने बताया कि गंगानगर ऋषिकेश निवासी भाई-बहन में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। उनकी मां, नाना व नानी की रिपोर्ट पहले ही पॉजिटिव आ चुकी है। हरिद्वार में कार्यरत उग्रसेन नगर निवासी एक व्यक्ति की रिपोर्ट भी पॉजिटिव है। वह सीमा डेंटल कॉलेज में क्वारंटाइन था।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: डेढ़ माह बाद भी नहीं आई 150 सैंपलों की रिपोर्ट Haridwar News

इसके अलावा बिजनौर निवासी एक व्यक्ति भी संक्रमित मिला है। उसकी पत्नी का एम्स में उपचार चल रहा है, जबकि वह डालनवाला में अपने किसी रिश्तेदार के यहां रह रहा है। सेलाकुई व गांधीग्राम निवासी दो लोगों की भी रिपोर्ट पॉजिटिव है।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: होम क्वारंटाइन लोगों को ट्रैक करेंगी टेलीकॉम कंपनियां Dehradun News

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस