देहरादून, जेएनएन। राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा यानी नीट के लिए आवेदन करते वक्त अब छात्रों को लाइव फोटो अपलोड करनी होगी। नई गाइडलाइन के मुताबिक उन्हें फॉर्म भरते समय फोटो खींचकर अपलोड करनी होगी। यह वेबकैम के जरिये एक्सटर्नल की मदद से भी क्लिक की जा सकती है। 

लाइव फोटो से पता चल पाएगा जिस छात्र ने फॉर्म भरा, वही एग्जाम में बैठा है। संदेह में छात्र को परीक्षा देने से भी रोका जा सकता है। रजिस्ट्रेशन फॉर्म में 10वीं, 12वीं का रोल नंबर भी लिखना होगा। छात्र रजिस्ट्रेशन के समय जो आइडेंडिटी कार्ड अपलोड करेगा, परीक्षा केंद्र पर वही लेकर जाना होगा। एनटीए की ओर से एडमिट कार्ड जारी होने के बाद बारहवीं के छात्रों के लिए फिर से रजिस्ट्रेशन विंडो ओपन की जाएगी, जिससे वे अपना रोल नंबर भर पाएं। बोर्ड के एडमिट कार्ड, नीट रजिस्ट्रेशन के बाद जारी होते हैं। 

दो दिसंबर से होंगे ऑनलाइन आवेदन 

देश के प्रमुख मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस और बीडीएस कोर्सेज में दाखिले के लिए नीट का आयोजन किया जाता है। राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) इस परीक्षा का आयोजन करती है। परीक्षा तीन मई में होगी। जिसके लिए आवेदन की प्रक्रिया दो दिसंबर से शुरू होगी। विद्यार्थी 31 दिसंबर तक आवेदन कर सकेंगे। आवेदन एनटीए नीट की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन किए जाएंगे। परीक्षा का परिणाम चार जून को जारी किया जाएगा। यह परीक्षा ओएमआर शीट आधारित होगी, यानी पेन-पेपर मोड पर। नीट के स्कोर को परसेंटाइल स्कोर के रूप में बदलकर सार्वजनिक किया जाएगा। 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में 715 शिक्षकों को मिली अनिवार्य तबादलों से राहत

जिपमर, एम्स के दाखिले भी नीट से 

अगले शैक्षणिक सत्र से एम्स और जिपमर समेत अन्य सभी मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस और बीडीएस कोर्सेज में दाखिले के लिए नीट अनिवार्य किया जा चुका है। पहले एम्स और जिपमर अलग से प्रवेश परीक्षा आयोजित करते थे। सिर्फ परीक्षा ही नहीं, दोनों कोर्सेज में काउंसलिंग भी एक साथ ही आयोजित की जाएगी। अधिसूचना जारी होने के बाद छात्रों को इस संबंध में विस्तृत जानकारी मिल जाएगी। 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में सुदूरवर्ती क्षेत्रों के छात्रों को मिलेगा वाहन भत्ता, तैयारी शुरू

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021