जागरण संवाददाता, देहरादून। आज यानी गुरूवार से 50 नए आवेदकों के लिए लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस के टेस्ट के स्लाट खोल दिए गए हैं। कोरोना की दूसरी लहर में दो महीने तक आरटीओ दफ्तर बंद रहने से लर्निंग डीएल बनाने वालों की फेहरिस्त काफी लंबी हो चुकी है। अभी तक केवल बैकलाग के 50, जबकि 25 नए आवेदकों के लर्निंग डीएल के लिए टेस्ट लिए जा रहे थे। अब चूंकि, कोरोना संक्रमण दर काफी कम हो चुकी है और सरकार ने भी समस्त कार्यालयों में शत फीसद कार्य संचालन की अनुमति दे दी है, इसलिए आरटीओ दिनेश चंद्र पठोई ने नए आवेदकों के लिए लर्निंग डीएल के स्लाट 25 से बढ़ाकर 50 करने का फैसला किया है।

22 अप्रैल से लेकर 24 जून का दो माह आरटीओ दफ्तर में कोरोना संक्रमण के बढ़े मामलों के कारण आमजन के कार्य नहीं हो सके। 25 जून से दफ्तर में सीमित संख्या व आनलाइन अपाइंटमेंट की बाध्यता के साथ काम शुरू किया गया था। शुरुआत में सभी कार्यों के लिए रोजाना 25-25 आवेदन ही स्वीकार किए जा रहे थे लेकिन बीते सप्ताह ही आरटीओ ने अपाइंटमेंट की शर्त हटाकर कार्य पहले की तरह सुचारू करा दिया था। इसमें लर्निंग लाइसेंस के लिए कुछ बाध्यता थीं। दरअसल, लर्निंग लाइसेंस का बैकलाग काफी ज्यादा होने के कारण आरटीओ पठोई ने नए आवेदकों के लिए लाइसेंस के स्लाट नहीं खोले गए थे।

रोजाना केवल उन्हीं 50 पुराने आवेदकों के लर्निंग लाइसेंस का टेस्ट लिया जा रहा था, जिन्होंने कोरोना काल में आवेदन किया था। परमानेंट डीएल के लिए भी स्लाट 75 से बढ़ाकर 125 कर दिए गए थे। तीन हफ्ते पहले आरटीओ ने कार्यालय में चल रहे कार्यों की समीक्षा करने के बाद लर्निंग लाइसेंस टेस्ट के 25 नए आवेदकों के लिए स्लाट खोल दिए थे। अब बुधवार को यह संख्या बढ़ाकर 50 कर दी गई है। आरटीओ ने बताया कि अब रोजाना 100 आवेदक लर्निंग डीएल का टेस्ट दे सकेंगे। वहीं, हालात यह हैं कि आवेदक पहले से इसके इंतजार में बैठे थे व स्लाट खुलते ही गुरुवार को टेस्ट देने 50 स्लाट हाथों-हाथ बुक भी हो गए।

लर्निंग लाइसेंस में अपाइंटमेंट जरूरी

आरटीओ ने भले सभी कार्यों के आवेदन के लिए अपाइंटमेंट की व्यवस्था खत्म कर दी हो, लेकिन लर्निंग लाइसेंस का टेस्ट देने को लेकर अपाइंटमेंट की शर्त अनिवार्य रूप से लागू रहेगी। आरटीओ ने बताया कि इस समय सर्वाधिक बैकलाग ड्राइविंग लाइसेंस के कार्य का है।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड: रोडवेज के तीन हजार कर्मचारियों को झटका, इस साल भी काटी गई तन्ख्वाह; जानें- वजह

Edited By: Raksha Panthri