देहरादून, जेएनएन। देश की रक्षा करते हुए देवभूमि उत्‍तराखंड का एक और लाल सरहद पर शहीद हो गया है। जम्मू—कश्मीर के राजौरी जिले के नौसेरा सेक्टर में पाकिस्तानी सेना की ओर से की गई गोलाबारी में देहरादून के राझावाला (सहसपुर) निवासी लांस नायक संदीप थापा शहीद हो गया है। वह तीसरी गोरखा राइफल्स में तैनात था।

भारत सरकार की ओर से जम्मू—कश्मीर से अनुच्‍छेद-370 हटाये जाने के बाद से पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान की ओर से नापाक हरकत की जा रही है। इससे एलआसी पर तनाव बढ़ा हुआ है। इस बीच सेना का जवान संदीप थापा अपनी ड्यूटी पर मुस्तैद रहे और देश की रक्षा करते हुए प्राण न्यौच्‍छावर कर दिए। शहीद जवान का पार्थिव शरीर रविवार तक उनके पैतृक आवास पहुंचने की संभावना है। आवास पर अंतिम दर्शन के बाद सैन्य सम्मान के साथ शहीद की अंत्येष्टि की जाएगी।

मिली जानकारी के अनुसार, गोरखा राइफल्स का जवान संदीप थापा वर्तमान में राजौरी के नौसेरा सेक्टर में तैनात था। शनिवार सुबह करीब साढ़े छह बजे के आसपास पाकिस्तान सेना ने संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए सीमा पर जबरदस्त गोलाबारी की और मोर्टार दागे। भारतीय सेना ने भी इसका मुंहतोड़ जवाब दिया और पाकिस्तान सेना की एक पोस्ट तबाह कर दी। पाक सेना द्वारा अकारण की गई गोलाबारी में लास नायक संदीप थापा गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल जवान को इलाज के लिए सेना के नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उपचार के दौरान वह शहीद हो गया। शहीद जवान का पार्थिव शरीर रविवार तक उसके पैतृक आवास पहुंचने की संभावना है।

घर में पसरा मातम  

सरहद पर संदीप थापा की शहादत की खबर मिलने से उसके घर में मातम पसर गया। शहीद के परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है। सूचना मिलने पर उनके नाते रिश्तेदार भी परिजनों को सांत्वना देने के लिए शहीद के आवास पहुंचे। वहीं, सहसपुर विधायक सहदेव पुंडीर, भाजपा नेता सुखदेव सिंह फरस्वाण आदि भी शहीद के आवास पहुंचे और परिजनों का ढांढस बंधाया। 

मुख्‍यमंत्री ने जताया दुख

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत व विस अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने भी लांस नायक संदीप थापा की शहादत पर दुख जताया है। सीएम ने कहा कि सीमा पर पाकिस्तान की गोलीबारी में उत्तराखंड के सपूत संदीप थापा देश के लिए कुर्बान हुए हैं। मैं शहीद जवान को कोटि कोटि नमन करता हूं। शहीद के परिजनों को सांत्वना प्रदान करने की प्रार्थना करते हुए विश्वास दिलाता हूं कि दुख की इस घड़ी में हम सब उनके साथ खड़े हैं। विस अध्यक्ष ने कहा कि सेना के जवान संदीप थापा ने देश की अखंडता व सुरक्षा के लिए अपनी जान की बाजी लगाई है। इसके लिए समूचा राष्ट्र संदीप थापा के प्रति कृतज्ञ रहेगा। 

डेढ़ दशक पहले हुए थे सेना में भर्ती

पारिवारिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार संदीप थापा करीब डेढ़ दशक पहले सेना में भर्ती हुआ था। उसके दोनों छोटे भाई भी सेना में ही तैनात हैं। शहीद जवान के पिता भगवान सिंह थापा भी सेना से सुबेदार रैंक से रिटायर हुए हैं। 

दो साल का है एक बेटा

संदीप का विवाह कुछ साल पहले ही हुआ था। उनका दो साल का एक बेटा है। शहीद की मां व पत्नी का भी रो रोकर बुरा हाल है। लास नायक संदीप थापा की शहादत की खबर मिलते ही आसपास के क्षेत्र के तमाम लोग उसके पैतृक आवास पर जुट गये। 

यह भी पढ़ें: इस फौजी ने दुश्मन के पोस्ट कमांडर को मार गिराया, दिया जाएगा सेना मेडल

यह भी पढ़ें: मेजर चित्रेश बिष्ट ने कुपवाड़ा में बचाई साथियों की जान, पढ़िए पूरी खबर

 यह भी पढ़ें: देहरादून के शहीद मेजर विभूति व मेजर चित्रेश की वीरता का सम्मान

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस