देहरादून, [राज्य ब्यूरो]: पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने राजधानी के मुद्दे को लेकर सत्तारूढ़ भाजपा पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि भाजपा राजधानी के मसले को उलझा रही है। उन्होंने कहा कि राज्य में दो राजधानी बनाए जाने का वह पुरजोर विरोध करेंगे। 

प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में पत्रकारों से बातचीत में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने कहा कि भाजपा गैरसैंण और राजधानी के मुद्दे पर गफलत पैदा कर रही है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बीते वर्ष गैरसैंण में विधानसभा सत्र के दौरान गैरसैंण को स्थायी राजधानी बनाने की पैरवी कर चुके हैं, लेकिन अब गैरसैंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाने का बयान दे रहे हैं। 

वहीं विधानसभा अध्यक्ष का कहना है कि उन्हें गैरसैंण में राजधानी के बारे में कोई प्रस्ताव नहीं मिला है। इससे भाजपा की राजधानी के मुद्दे पर उलझाऊ नीति सामने आ जाती है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड दो राजधानी का बोझ नहीं उठा सकता है। दो राजधानी अंग्रेजों की परिकल्पना थी। राजधानी एक ही होनी चाहिए। अन्यथा वह विरोध करेंगे। इस संबंध में वह सरकार को चिट्ठी लिखेंगे।

उत्तरप्रदेश के चुनाव अधिकारी का जिम्मा संभाल रहे किशोर उपाध्याय ने राम मंदिर और बाबा साहब भीमराव अंबेडकर को लेकर भी भाजपा सरकार पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि भाजपा ने राम मंदिर को लेकर अदालत का फैसला नहीं मानने की बात कही थी, लेकिन पार्टी अब अदालत के आदेश को मानने पर जोर दे रही है। भाजपा तब गलत थी या आज, यह जनता को पता चलना चाहिए। 

उन्होंने कहा कि भाजपा बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की ओर से बनाए गए संविधान को ताक पर रख रही है। वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने राहुल गांधी को गधा बताए जाने संबंधी मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत की टिप्पणी पर पलटवार किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने जो टिप्पणी की कि उसे पता चलता है कि वह उसी नस्ल के हैं। मुख्यमंत्री ने अपने बयान से उत्तराखंड के नाम को कलंकित किया है। उन्होंने बयान वापस नहीं लिया तो पार्टी गधों की रैली निकालकर प्रदर्शन करेगी।

यह भी पढ़ें: गैरसैंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाने का वादा जल्द होगा पूरा

यह भी पढ़ें: यूपी में योगी हुए पास, उत्तराखंड में अब त्रिवेंद्र की परीक्षा

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस