देहरादून, जेएनएन। राजधानी के नए एसएसपी के रूप में 2006 बैच के आइपीएस अरुण मोहन जोशी शनिवार को कार्यभार ग्रहण किया। उनके सामने भी राजधानी की ट्रैफिक व्यवस्था, अपराध नियंत्रण एवं जनता को तत्काल न्याय दिलाने की चुनौती रहेगी। 

इसके अलावा सरकार के आदेशों का पालन कराना और फोर्स का मनोबल बरकरार रखना होगा। इन सब के बीच नए एसएसपी ने जनता को सर्व सुलभ न्याय दिलाना ही अपनी प्राथमिकता बताया है। कहा कि हर पीड़ित को पुलिस से न्याय की उम्मीद होती है। इस पर खरा उतरने का भरसक प्रयास किया जाएगा। सरकार के साथ ही जनता को भी नए एसएसपी से कई उम्मीदें रहेंगीं। 

खासकर पिछले कार्यकाल में कड़क छवि से वह चर्चाओं में रहे। इधर, निवर्तमान कप्तान निवेदिता कुकरेती भी अपने दो साल दो माह 18 दिन का सफल कार्यकाल लेकर विदा हो गई हैं। उन्होंने अपने अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि राजधानी के पुलिस कप्तान पर न केवल जनता की बल्कि सरकार की चौबीसों घंटे नजरें होती हैं। सरकार और जनता की उम्मीदों पर खरा उतरने के साथ अधीनस्थों का मनोबल बनाए रखना चुनौती रहता है। कहा कि जनता और सरकार के बीच सामंजस्य बैठाकर काम करने की चुनौती यहां हर वक्त रहती है। इस पर खतरा उतरना किसी परीक्षा में पास होने जैसा है।

यह भी पढ़ें: तीन पुलिस कप्तान समेत छह आइपीएस के तबादले, अरुण मोहन जोशी बने दून के एसएसपी

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: सुगम में 64 फीसद, तो दुर्गम में भेजे गए 16 फीसद शिक्षक

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस