जागरण संवाददाता, देहरादून : Raksha Bandhan 2022 रक्षाबंधन पर शहर की यातायात व्यवस्था (Traffic System) पूरी तरह बेपटरी नजर आई। जगह-जगह जाम के झाम ने आमजन को हलकान करके रख दिया। आलम यह रहा है कि तीन से चार किलोमीटर की दूरी तय करने के लिए डेढ़ से दो घंटे जाम में जूझना पड़ा। ये स्थिति तब नजर आई जब त्योहार को लेकर व्यवस्थाएं बनाने के लिए यातायात पुलिस तीन-चार दिनों से माथापच्ची करने में जुटी थी।

रक्षाबंधन पर व्यवस्थाएं पूरी तरह से फेल

गुरुवार को रक्षाबंधन पर व्यवस्थाएं पूरी तरह से फेल होकर रह गई। खासकर रिस्पना पुल से मोहकमपुर, चकराता रोड, श्री महंत इंदिरेश अस्पताल से कारगी चौक, हरिद्वार रोड, क्लेमेनटाउन सहित अंदरूनी व बाहरी सड़कों पर जाम की स्थिति बनी रही।

  • रक्षाबंधन त्योहार के चलते बहनें अपने भाइयों को राखी पहनाने के लिए घर से निकलीं, लेकिन जाम के कारण वह समय पर अपने गंतव्य तक नहीं पहुंच पाए।
  • त्योहार के मद्देनजर पुलिस विभाग की ओर से सुबह से ही फोर्स को सड़कों पर उतारा था।
  • चौराहों पर पुलिसकर्मी तैनात भी रहे, लेकिन वाहनों का दबाव इतना अधिक था, हर तरफ जाम की स्थिति बन गई।
  • यह स्थिति तब रही जबकि छुट्टी के चलते सरकारी कार्यालय व स्कूल बंद थे।

दूसरी ओर पुलिस अधीक्षक यातायात अक्षय कौंडे ने बताया कि यातायात निरीक्षक सिटी पेट्रोलिंग (City Patrol Unit) व हाक मोबाइल को भी यातायात दबाव वाले स्थानों पर लगातार भ्रमणशील रखा। शहर में यातायात व्यवस्था के संचालन के लिए तैनात यातायात पुलिस बल अपने निर्धारित स्थानों पर तैनात रही।

भारी वाहनों पर लगे रोक तो दूर होगी समस्या

आमतौर पर देखा गया कि दिन के समय भी शहर की अंदरूनी सड़कों पर भारी वाहन दौड़ते नजर आते हैं। यहां तक ट्रैक्टर भी सड़कों पर चलते दिखाई देते हैं, जोकि जाम की सबसे बड़ी समस्या बनते हैं। यदि दिन में शहर के अंदर इनकी एंट्री बंद की जाए तो जाम की समस्या से छुटकारा मिल सकता है। इसके अलावा पुलिस की ओर से जगह-जगह बैरिकेट लगाए गए हैं, जोकि जाम के कारण बन रहे हैं।

Edited By: Sunil Negi