राज्य ब्यूरो, देहरादून। एनआइओएस के डीएलएड पाठ्यक्रम प्रशिक्षितों को प्राथमिक शिक्षकों की मौजूदा भर्ती प्रक्रिया से बाहर करने के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय के निर्देशों पर अमल नहीं हुआ है। विभाग इन निर्देशों का परीक्षण कर रहा है। माना जा रहा है कि इस संबंध में जल्द आदेश जारी किए जा सकते हैं। एनसीटीई से एनआइओएस के डीएलएड पाठ्यक्रम को मान्यता मिलने के बाद शासन ने इस पाठ्यक्रम का प्रशिक्षण ले चुके निजी स्कूलों के शिक्षकों को भी प्राथमिकक शिक्षकों की मौजूदा भर्ती प्रक्रिया में शामिल होने के आदेश जारी किए। जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थानों में डीएलएड का दो वर्षीय प्रशिक्षण ले चुके और भर्ती प्रक्रिया में शामिल होने वाले अभ्यर्थी शासन के उक्त आदेश का विरोध कर रहे हैं।

इन अभ्यर्थियों का कहना है कि एनआइओएस का डीएलएड पाठ्यक्रम डेढ़ वर्षीय है, जबकि उन्होंने दो वर्षीय पाठ्यक्रम का प्रशिक्षण लिया है। उनका ये भी तर्क है कि प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया प्रारंभ हो चुकी है। लिहाजा बीच में नए अभ्यर्थियों को मौका नहीं दिया जाना चाहिए। इन आंदोलनरत शिक्षकों को शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय ने राहत देते हुए एनआइओएस से डीएलएड प्रशिक्षितों को भर्ती प्रक्रिया में शामिल नहीं किए जाने के आदेश दिए थे।

विभागीय मंत्री के निर्देशों के बाद सचिव ने इस मामले में विभाग को ही परीक्षण करने के निर्देश दिए। साथ ही उक्त संबंध में पत्रावली शिक्षा मंत्री को भेजी गई है। शिक्षा मंत्री का अनुमोदन मिलने के बाद उक्त संबंध में आदेश जारी किया जाएगा। विभाग इस मामले में सावधानी भी बरत रहा है। एनआइओएस से डीएलएड प्रशिक्षित उन्हें भर्ती प्रक्रिया में शामिल होने से रोकने के खिलाफ कोर्ट जाने की धमकी दे चुके हैं।

यह भी पढ़ें-डायट प्रशिक्षितों की इच्छा पूरी, एनआइओएस के डीएलएड प्रशिक्षितों को भर्ती प्रक्रिया से बाहर रखने का फरमान

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021