देहरादून, [जेएनएन]: नेपाल के सेना प्रमुख जनरल राजेंद्र छेत्री ने कहा कि भारत-नेपाल के बीच कई दशकों से मधुर व मैत्रीपूर्ण संबंध हैं। हमारी सीमाएं ही नहीं मिलती, बल्कि दोनों देशों में भौगोलिक, सामाजिक व सांस्कृतिक समानताएं भी हैं।

उन्होंने कहा कि नेपाल कभी ऐसा कदम नहीं उठाएगा जिससे उसके पड़ोसी (भारत) के हित प्रभावित होते हैं। अपने हालिया पाकिस्तान दौरे व पाकिस्तानी सेना प्रमुख जावेद बाजवा से मुलाकात पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने यह बात कही। उन्होंने कहा कि उनकी पाकिस्तान यात्रा दोनों देशों के बीच सद्भाव व नियमित प्रक्रिया का हिस्सा थी। इस मुलाकात को किसी अन्य नजरिये से नहीं देखा जाना चाहिए।

भारतीय सैन्य अकादमी में मीडिया से बातचीत में जनरल छेत्री ने कहा कि भारत-नेपाल के बीच अटूट रिश्ता है। भारत आकर उन्हें अच्छा लगा। इसके लिए उन्होंने भारत सरकार व थलसेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत का आभार भी जताया।

उन्होंने कहा कि जिस तरह भारत व नेपाल के लोगों के बीच मैत्रीपूर्ण संबंध हैं, उसी तरह दोनों देशों के सशस्त्र बलों में भी एक-दूसरे को लेकर गहरा विश्वास है। पासिंग आउट परेड के बाद युवा सैन्य अफसरों को संबोधित करते उन्होंने कहा कि नेतृत्व का सही अर्थ शेयरिंग व केयरिंग से है। सैन्य अधिकारियों को न केवल सामरिक बल्कि, तकनीकी रूप से भी कुशल होना चाहिए। एक सैनिक के मानवीय गुणों पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि हर अफसर में उत्कृष्टता के लिए प्रयास करने की ललक होनी चाहिए।

यह भी पढ़ें: भारतीय सेना को मिले 383 युवा अधिकारी, सात मित्र देशों के 74 कैडेट भी हुए पास आउट

यह भी पढ़ें: बचपन में ठाना करूंगा देश की रक्षा, अब सपना साकार कर सेना में ऑफिसर बना ये युवा 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप