देहरादून, [राज्य ब्यूरो]: राज्य में छठवां और पांचवां वेतनमान ले रहे सरकारी और स्वायत्त निकायों-उपक्रमों के हजारों कर्मचारियों और पेंशनर्स को एक नवंबर से बढ़े महंगाई भत्ते का तोहफा मिलेगा। छठवां वेतनमान ले रहे कार्मिकों के महंगाई भत्ते में तीन फीसद और पांचवां वेतन ले रहे कार्मिकों के महंगाई भत्ते में चार फीसद वृद्धि की गई है। 

राज्य स्थापना दिवस के मौके पर सरकार ने 50 हजार से ज्यादा कार्मिकों और पेंशनर्स की मुराद पूरी की है। वित्त प्रमुख सचिव राधा रतूड़ी ने मंगलवार को उक्त संबंध में अलग-अलग आदेश जारी किए हैं। छठवां वेतन ले रहे राज्य सरकार और स्वायत्त निकायों-उपक्रमों के कर्मचारियों और पेंशनर्स का महंगाई भत्ता 136 फीसद से बढ़ाकर 139 फीसद किया गया है। इससे पहले एक जनवरी, 2017 से महंगाई भत्ता मूल वेतन का 136 फीसद की दर से स्वीकृत किया गया था। 

अन्य आदेश में पांचवां वेतनमान ले रहे राज्य सरकार और स्वायत्त निकायों-उपक्रमों के कर्मचारियों और पेंशनर्स के लिए महंगाई भत्ता 264 फीसद से बढ़ाकर 268 फीसद किया गया है। उक्त दोनों आदेशों में बढ़ा हुआ भत्ता एक जुलाई, 2017 से लागू किया गया है। 

एक जुलाई से 31 अक्टूबर तक महंगाई भत्ते की बढ़ी धनराशि भविष्य निधि खाते में जमा होगी। लेकिन, अंशदायी पेंशन योजना से आच्छादित कार्मिकों की अवशेष देय धनराशि में से 10 फीसद पेंशन अंशदान और उतनी ही धनराशि नियोक्ता के अंश के साथ नई पेंशन योजना के खाते में जमा की जाएगी। 

उक्त दोनों ही आदेश उन कार्मिकों पर लागू होंगे, जिन्हें सातवें वेतनमान का लाभ अभी तक नहीं मिला है। संशोधित महंगाई भत्ता लागू होने से उक्त कार्मिकों के वेतनमान में डेढ़ हजार से पांच हजार तक इजाफा होगा।

यह भी पढ़ें: 28 संवर्गों के कर्मचारियों की वेतन विसंगति दूर, ग्रेड पे बढ़ेगा

यह भी पढ़ें: इस विभाग में अगर आने में हुर्इ देरी तो कटेगी सैलरी

यह भी पढ़ें: रियल एस्टेट रेगुलेटरी अथॉरिटी के लिए योग्यता प्रमाण

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस