संवाद सूत्र, रायवाला : प्रदेश में 11 अप्रैल को होने जा रहे लोक सभा चुनाव के लिए मतदान केंद्र चयनित कर लिए गए हैं, लेकिन इस कार्य में किस तरह लापरवाही बरती गई है, इसकी बानगी ऋषिकेश विधान सभा के अंतर्गत राजकीय प्राथमिक विद्यालय नवीन श्यामपुर में देखी जा सकती है। विद्यालय में उपलब्ध दो कक्षा-कक्ष के साथ प्रधानाध्यापक कार्यालय को भी मतदान कक्ष बनाया गया है। यह कक्ष मात्र 72 वर्ग फिट का है। जाहिर सी बात है, इतने छोटे कक्ष में व्यवस्थित ढंग से मतदान कैसे संभव होगा। अधिकारियों ने इसकी चिंता न कर बस मतदान के लिए भवन अधिग्रहण कर अपनी जिम्मेदारी से इतिश्री कर दी। वहीं स्कूल प्रशासन इस बात को लेकर परेशान है, कि वह कक्षा-कक्षों का सामान और कार्यालय के अभिलेख आदि कहां रखे।

राजकीय प्राथमिक विद्यालय नवीन श्यामपुर में महज दो कक्ष और एक प्रधानाध्यापक कार्यालय है। लोकसभा चुनाव के लिए इस विद्यालय में तीन बूथ बने हैं। बूथ नंबर एक व दो तो ठीक है लेकिन बूथ नंबर तीन प्रधानाध्यापक कार्यालय को बनाया गया है। यह कक्ष मात्र आठ फीट चौड़ा और नौ फीट लंबा है। कक्ष में पोलिग पार्टी के चार लोगों की सीट, एक ईवीएम व वीवीपैट मशीन लगनी है। 15 उमीदवारों के एक-एक एजेंट भी कक्ष में होंगे। इसके अलावा एक बार में कम से कम दो मतदाता भी वोट देने के लिए कमरे में जाएंगे। यानि 21 लोग एक बार में 72 वर्ग फिट के कमरे में होंगे। अब अंदाजा लगाया जा सकता है कि इतने छोटे कक्ष में यह सब एक साथ कैसे संभव होगा। वहीं मतदाताओं के लिए भीतर व बाहर जाने का रास्ता भी अलग-अलग नहीं है। साफ जाहिर हो रहा है कि इस दशा में में व्यवस्थित ढंग से मतदान संभव नजर नहीं आता।

-------

रैम्प भी नहीं : इस मतदान केंद्र के बूथ संख्या एक व दो के लिए तो रैम्प उपलब्ध है लेकिन तीसरे बूथ तक जाने वाली सीढि़यों पर अब तक रैम्प भी नहीं बनाया गया। ऐसे में सवाल उठता है कि दिव्यांग और बुजुर्ग मतदाता वोट देने के लिए कक्ष तक कैसे पहुंचेंगे। जबकि निर्वाचन आयोग की गाइड लाइन के मुताबिक प्रत्येक मतदान केंद्र पर रैम्प बने होने जरूरी हैं।।

-----

स्कूल का सामान रखने को जगह नहीं

अधिकारियों की लापरवाही ने स्कूल प्रशासन के लिए भी मुसीबत खड़ी कर दी है। स्कूल के दोनों कक्ष व कार्यालय को मतदान केंद्र बना देने से स्कूल प्रशासन के सामने यह दिक्कत खड़ी हो गई है कि वह स्कूल का फर्नीचर, आलमारी, अभिलेख व अन्य सामान कहां रखे। श्यामपुर के संकुल समन्वयक मोहनलाल पेटवाल ने बताया कि सबसे बड़ी दिक्कत अभिलेख व मिडडे मिल राशन को संभालने की है।

........

इस मतदान केंद्र का मामला संज्ञान में आया है। इस संबंध में जिला मुख्य विकास अधिकारी से वार्ता की जा चुकी है। इस केंद्र में मतदान की सभी व्यवस्था पूर्ण की जाएगी।

प्रेमलाल, उप जिलाधिकारी, ऋषिकेश

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप