देहरादून, जेएनएन। राजधानी देहरादून में अब सेक्स सार्टेड सीमन से गोवंशीय पशुओं का कृत्रिम गर्भाधान शुरू हो गया है। इस सीमन की डोज सभी अस्पताल और केंद्र में उपलब्ध करा दी गई हैं।

दून में 30 सरकारी पशु अस्पताल और 50 पशु सेवा केंद्र हैं। यहां पर पशु चिकित्सा विभाग कृत्रिम गर्भाधान करता है। इधर पशु चिकित्सा विभाग ने सेक्स सार्टेड सीमन से कृत्रिम गर्भाधान कराना शुरू कर दिया है। इस सीमन की डोज सभी अस्पताल और केंद्र में उपलब्ध करा दी गई हैं। इस सीमन की खूबी यह है कि इससे कृत्रिम गर्भाधान कराने पर 90 प्रतिशत संभावना बछिया पैदा होने की रहती है। फिलहाल सिर्फ गोवंशीय पशुओं के लिए ही सेक्स सार्टेड सीमन उपयोग किया जा रहा है। इसके लिए पशु पालक को 160 रुपये शुल्क और घर पर कराने पर 200 रुपये शुल्क देना होगा। पशु पालक की मांग पर भैंस के लिए भी सेक्स सार्टेड सीमन मुहैया कराया जाएगा। 

यह भी पढ़ें: विज्ञान का आधार है तर्क और विश्लेषण, देश-दुनिया को नवाचार की जरूरत Dehradun News

आवारा पशुओं की संख्या भी होगी कम 

पशु चिकित्सा विभाग का मानना है कि गोवंशीय पशुओं का सेक्स सार्टेड सीमन से कृत्रिम गर्भाधान होने से कई फायदे होंगे। बछिया होने से उसे यूं ही नहीं छोड़ा जाएगा। इससे आवारा पशुओं की संख्या कम होगी। कुछ समय में देसी गाय के दूध की मांग भी बढ़ी है। सिर्फ बछिया होने से आपूर्ति भी बढ़ेगी। 

मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. एसवी पांडे ने बताया कि जिले के सरकारी पशु अस्पताल व केंद्रों में सेक्स सार्टेड सीमन से कृत्रिम गर्भाधान शुरू हो गया है। इससे आवारा पशु से निजात मिलेगी। साथ ही दूध उत्पादन बढ़ने समेत तमाम फायदे होंगे। 

यह भी पढ़ें: इस अस्पताल में हुई कैंसर की दो जटिल रोबोटिक सर्जरी, जानिए Dehradun News

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप