जागरण संवाददाता, हरिद्वार: गैंगस्टर यशपाल तोमर के खिलाफ उत्तर प्रदेश में बड़ी कार्रवाई के बाद हरिद्वार जिला प्रशासन ने एक बार फिर उसे झटका दिया है। जिलाधिकारी विनय शंकर पांडे के आदेश पर दिल्ली-हरिद्वार हाईवे से सटी करीब 36 बीघा भूमि कुर्क की गई है। इस जमीन की कीमत करीब 70 करोड़ रुपये बताई जा रही है।

एसटीएफ नेजनवरी 2022 में किया नोएडा से गिरफ्तार

ज्वालापुर की चर्चित और विवादित भूमि पर कब्जे के लिए धमकी के मामले में पुलिस ने दिसंबर 2021 में यशपाल तोमर के खिलाफ ज्वालापुर कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया था। जिसकी जांच उत्तराखंड एसटीएफ ने करते हुए जनवरी 2022 में उसे नोएडा से गिरफ्तार किया।

गुरुग्राम में उसके खिलाफ कई मुकदमे दर्ज

उसके बाद ज्वालापुर कोतवाल महेश जोशी की ओर से यशपाल और उसके साथियों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट में मुकदमा दर्ज किया गया और जिलाधिकारी के आदेश पर उसकी 153 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क करने के आदेश दिए गए थे। इस कार्रवाई के बाद यशपाल तोमर पर उत्तर प्रदेश के मेरठ, मथुरा, बुलंदशहर और हरियाणा के गुरुग्राम में उसके खिलाफ कई मुकदमे दर्ज हुए।

36 बीघा भूमि को भी कुर्क करने के दिए थे आदेश

ज्वालापुर कोतवाली में दर्ज गैंगस्टर एक्ट के मुकदमे के तहत चौपहिया-दोपहिया वाहन भी कुर्क कर लिए गए थे। जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय ने रानीपुर झाल से सटी उसकी 36 बीघा भूमि को भी कुर्क करने के आदेश दिए थे, जिसके बाद मंगलवार को तहसीलदार शालिनी मौर्य के नेतृत्व में पहुंची प्रशासनिक टीम ने मौके पर पहुंचकर भूमि को कुर्क किया।

बकायदा तहसील प्रशासन ने कुर्की संबंधी बोर्ड भी भूमि पर लगा दिया है, जिससे की आमजन को इस बात भी जानकारी रहे। इस दौरान तहसील प्रशासन के अलावा एसटीएफ के एसआइ नरोत्तम बिष्ट भी मौजूद रहे।

Edited By: Nirmala Bohra