जागरण संवाददाता, देहरादून। कोरोनाकाल में खतरे को देखते हुए कोई जोखिम उठाने को तैयार नहीं होता, लेकिन कई ऐसे भी हैं जो घर की जिम्मेदारी के साथ-साथ जनता के लिए मददगार बने हैं। इनमें से एक हैं एसपी सिटी सरिता डोबाल। घर में बच्चों की देखभाल करने के साथ-साथ शहर में कानून व्यवस्था बनाना व जरूरतमंदों की सेवा करने की जिम्मेदारी भी उन्हीं के कंधों पर है। 

एसपी सिटी सुबह छह बजे ही बच्चों के लिए नाश्ता तैयार कर खुद ड्यूटी के लिए तैयार हो जाती हैं। इसके बाद दिन भर सुरक्षा व्यवस्था व जरूरतमंदों की सेवा करने में जुटी रहती हैं। रात को 11 से 12 बजे घर जाना होता है, लेकिन यदि जरूरत पड़ी तो रात को कई बार सुरक्षा का जायजा लेने के लिए निकल पड़ती हैं। एसपी सिटी ने बताया कि आजकल किसी से मदद भी नहीं ले सकते हैं। पहले ऐसे मौकों पर स्वजन ही मदद को आगे आते थे, लेकिन अब हर कोई अपने घरों में सुरक्षित हो गए हैं। इसलिए घर की जिम्मेदारी के साथ-साथ शहर की सुरक्षा का ध्यान रखना जरूरी हो जाता है। शहर में कई लोग ऐसे होते हैं, जिन्हें मदद की दरकार होती है, इसलिए पीडि़त तक मदद पहुंचाना भी एक बड़ी जिम्मेदारी होती है।

'सेल्फी विद मॉम' में दिखा मां बेटियों में उत्साह

कोरोना महामारी में घर पर रहकर मानसिक रूप से स्वस्थ व व्यस्त रहने के साथ सकारात्मक ऊर्जा के संचार को लेकर उत्तरांचल महिला एसोसिएशन (उमा) की ओर से 'मेरी मां मेरी पहचान' के तहत विभिन्न वर्गों में 'सेल्फी विद मॉम' ऑनलाइन प्रतियोगिता आयोजित की गई। जिसमें बेटियों के साथ मां ने भी उत्साह के साथ भाग लिया। शनिवार को दोपहर दो बजे तक प्रतियोगिता के विभिन्न वर्गों में शामिल प्रतिभागियों ने निर्णायक मंडल को अपनी सेल्फी भेजी। इसके बाद विजेताओं की सूची जारी की गई, जिसमें 'दो बेटियों की मां' में मीरा नवेली ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। 

'हमशक्ल बेटी वाली मां' के रूप में रचना पंचपाल प्रथम, जबकि भूमिका शर्मा द्वितीय स्थान पर रहीं। 'बहू के साथ सास की सेल्फी' में नीलिमा ने प्रथम स्थान हासिल किया। '95 की मां के साथ बेटी' में अंजना वाही, 'कुछ ही माह की बेटी' में यामिनी शर्मा ने बाजी मारी। इसके अलावा श्वेता राय, देवयानी रूपाली, रुचिका, सरोज समेत 16 महिलाओं को सांत्वना पुरस्कार दिया गया। संस्था की अध्यक्ष साधना शर्मा ने कहा कि इस बार कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रतियोगिता ऑनलाइन कराई गई।

यह भी पढ़ें- Happy Mothers Day 2021: हर मन कर रहा मां को नमन, जानिए दून की इन बेटियों की कहानी

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Raksha Panthri