जागरण संवाददाता, ऋषिकेश। ऋषिकेश-हरिद्वार मार्ग पर कृषि उत्पादन मंडी समिति के बाहर ट्रांसफार्मर से चिंगारी गिरने से दो खोखों में आग लग गई। आग ने आसपास अन्य पांच फल की ठेलियां को भी चपेट में ले ली। मंगलवार की मध्यरात्रि की इस घटना में अग्निशमन दल की टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

कृषि उत्पादन मंडी समिति हरिद्वार रोड के मुख्य गेट के बाहर कई व्यक्तियों ने ठेलियां और खोखे लगा रखे हैं। मंडी गेट और तिवारी भोजनालय के बीच स्थित एक ट्रांसफार्मर के नीचे एक दुकानदार ने अपना खाली पेटियां, बोरी व अन्य स्क्रैब रखा है। मंगलवार की मध्यरात्रि करीब डेढ़ बजे ट्रांसफार्मर से चिंगारी नीचे गिरी, जिससे वहां रखें सामान ने आग पकड़ ली। मंडी परिसर में रात से ही बाहर से माल लेकर आने वाले व्यापारियों का आगमन शुरू हो जाता है। इस दौरान वहां मौजूद कुछ लोग ने जब आग लगते देखी तो यहां भीड़ एकत्र हो गई। 

सूचना पाकर मौके पर पहुंचे अग्निशमन दल ने एक घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। आग लगने से महेंद्र कुमार मद्धेशिया, आकाश मद्धेशिया, बादल जायसवाल, राशिद, इरफान व कालू खान की दुकानें व ठेलियां पूरी तरह से स्वाहा हो गई। 

पास में ही रात को खड़ी गई फुटकर व्यापारियों की कुछ ठेलियों में भी आग से नुकसना पहुंचा है। स्थानीय व्यापारी विवेक तिवारी ने बताया कि ट्रांसफार्मर में संभवत ओवरलोड होने के कारण तारें स्पार्क हुई, जिससे नीचे रखे स्क्रैब में आग लग गई। अग्निशमन अधिकारी बीरबल सिंह ने बताया कि मौके पर हुई क्षति का आकलन लगाया जा रहा है।

स्पीकर ने लिया जायाजा, प्रभावितों को मुआवजा देने के निर्देश 

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का जायजा लिया। मौके पर विधानसभा अध्यक्ष ने पहुंचकर प्रभावित दुकानदारों से मिलकर पूरी जानकारी प्राप्त की। इस दौरान उन्होंने आग लगने से होने वाली हानि के बारे में भी जानकारी ली। विधानसभा अध्यक्ष ने मौके पर ही उप जिलाधिकारी को दूरभाष पर प्रभावित दुकानदारों की हानि का निरीक्षण कर उचित मुआवजा देने की बात कही।

उन्होंने विद्युत विभाग के अधिशासी अभियंता को अग्निकांड मामले की जांच के निर्देश दिए। इस अवसर पर नगर निगम पार्षद शिव कुमार गौतम, मंडी समिति के अध्यक्ष कुलदीप शर्मा, गिरीश छाबड़ा, विनोद जयसवाल, दीपक भारद्वाज, सुमित पवार, विवेक तिवारी, चंद्रभान, ऋषि जयसवाल, मनदीप, वरुण सैनी, सुनील कुमार आदि उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें-देहरादून में चलती बस को लगी आग, ड्राइवर ने कूदकर बचाई जान

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें