देहरादून, जेएनएन। 4/5 गोर्खा राइफल्स के पूर्व सैनिकों ने रविवार को धूमधाम से ‘बांग्लादेश डे’ मनाया। इस दौरान बांग्लादेश को आजादी दिलाने के दौरान शहादत देने वाले सेना के जांबाजों को याद कर श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

चंद्रबनी स्थित गोर्खा संघ धर्मशाला में आयोजित कार्यक्रम में पूर्व सैनिकों के परिवारजनों ने भी प्रतिभाग किया। पूर्व सैनिकों ने युद्ध के किस्से और अनुभव साझा करते हुए शहीदों की वीरगाथा सुनाई। पूर्व सैनिक कर्नल एमएस सोही ने बताया कि बंगलादेश डे उन वीर शहीदों की याद में मनाया जाता है, जिन्होंने बंगलादेश की आजादी की लड़ाई में भारतीय सेना के पराक्रम का परिचय देते हुए शहादत दी थी। साथ ही श्रीलंका में ऑपरेशन पवन में शहीद हुए वीरों को भी नमन किया जाता है।

यह भी पढ़ें: सेना में जाने का जुनून कुछ ऐसा, पीसीएस छोड़ सेना को बनाया कॅरियर

बताया कि 1971 में पूर्वी पाकिस्तान में यह युद्ध 21 नवंबर से 16 दिसंबर तक हुआ, जिसमें 4/5 गोर्खा राइफल्स के जवानों ने खुखरी से हमला किया। लांसनायक दिल बहादुर क्षेत्री ने अकेले ही आठ पाकिस्तानी सैनिकों को खुखरी से मार गिराया था। इसके अलावा भी कई वीर सैनिकों ने अपने अदम्य साहस और वीरता का परिचय दिया था। इस अवसर पर कर्नल एमएस सोही, कर्नल एनएस नेगी, कर्नल केबी जुयाल, कर्नल डीएस खड़का, कर्नल एससी थपलियाल, कै. आरएस थापा, पदम शाही, कल्पना थापा आदि उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें: 5/8 गोरखा राइफल्स के पूर्व सैनिकों ने मनाया स्थापना दिवस

 

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस