जागरण संवाददाता, देहरादून : उत्तराखंड के 49 फीसद लोग उच्च शिक्षा ग्रहण करते हैं। जितने टॉपर हैं उनमें 90 फीसद छात्राएं हैं। हमारी कोशिश है कि उत्तराखंड में साक्षरता दर 2020 तक शत फीसद हो। यह बात उच्च शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ.धन सिंह रावत ने कर्नाटक से आए छात्र-छात्राओं के दल को दून विवि में सम्मानित करते हुए कही।

दून विश्वविद्यालय में कर्नाटक के छात्र-छात्राओं की अध्यययन यात्रा के समापन पर आयोजित कार्यक्रम में उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि उत्तराखंड की शिक्षा के क्षेत्र मे अपनी अलग पहचान बनी है। राज्य में 22 हजार से अधिक बच्चे जम्मू-कश्मीर से व करीब 38 हजार बच्चे नॉर्थ ईस्ट से यहां आकर शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि दून विवि में सालभर में 209 दिन पढ़ाई होती है। जबकि अन्य सरकारी कॉलेज में 105 दिन ही पढ़ाई हो पाती है। उन्होंने बताया कि अब उत्तराखंड से छात्र-छात्राओं का एक दल 30 मार्च से बेंगलुरू अध्ययन यात्रा में जाएगा। कार्यक्रम में कुलपति प्रो. एके कर्नाटक, कुलसचिव डॉ. एमएस मंद्रवाल, प्रो. एचसी पुरोहित, डॉ. विपिन सैनी, डॉ. नितिन कुमार, प्रशात मेहता आदि मौजूद रहे।

---

इन प्रतिष्ठित संस्थानों का किया भ्रमण

केंद्र सरकार के महत्वपूर्ण कार्यक्रम 'एक भारत श्रेष्ठ भारत' के तहत बेंगलुरु विश्वविद्यालय, महारानी क्लस्टर यूनिवर्सिटी व गवर्मेट साइंस कॉलेज, कर्नाटक के छात्र-छात्राओं का दल विगत 19 दिसंबर से उत्तराखंड की यात्रा पर था। इस यात्रा का मुख्य उद्देश्य छात्र-छात्राओं को उत्तराखंड की संस्कृति से रूबरू कराना था। इस कार्यक्रम के तहत छात्र-छात्राओं ने उत्तराखड की संस्कृति जानी वहीं तमाम महत्वपूर्ण एवं प्रतिष्ठित स्थानों की यात्रा की। इस अवधि में दल को लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी मसूरी, भारतीय सैन्य अकादमी, पलटन बाजार, डोईवाला गाव, ऋषिकेश के धार्मिक स्थलों समेत विभिन्न स्थानों का भ्रमण कराया गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस