जागरण संवाददाता, देहरादून:

पदोन्नति में आरक्षण के विरोध में जनरल-ओबीसी कर्मचारियों ने अब दिल्ली में गरजने को कमर कस ली है। अखिल भारतीय समानता मंच, उत्तराखंड जनरल-ओबीसी इंप्लाइज एसोसिएशन, मध्य प्रदेश की सामान्य, पिछड़ा, अल्पसंख्यक वर्ग कर्मचारी संस्था (सपाक्स) के पदाधिकारी शनिवार को दिल्ली में साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। जिसमें केंद्र सरकार और आरक्षण के पक्ष में बोलने वाली कांग्रेस पार्टी के खिलाफ भी आंदोलन की रणनीति की घोषणा करेंगे।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भी बिना आरक्षण पदोन्नति बहाल करने में राज्य की भाजपा सरकार की ओर से की जा रही हीलाहवाली से जनरल-ओबीसी कर्मचारी पिछले एक पखवाड़े से आंदोलन की राह पर हैं। सरकार की ओर से केंद्रीय नेतृत्व से सलाह-मशविरा करने की बात कहे जाने के बाद से कर्मचारियों का आक्रोश बढ़ गया है। उत्तराखंड जनरल-ओबीसी इंप्लाइज एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष दीपक जोशी ने बताया कि सरकार अब एससी-एसटी के बीस प्रतिशत कर्मचारियों को खुश रखने के लिए अस्सी प्रतिशत कर्मचारियों के हितों की अनदेखी कर रही है। 14 फरवरी को प्रदेश में सामूहिक कार्य बहिष्कार और सचिवालय कूच, 20 फरवरी को मुख्यमंत्री आवास कूच के बाद भी सरकार की हठधर्मिता बनी हुई है। अब जब सरकार पदोन्नति में आरक्षण को राजनैतिक मुद्दा बना रही है तो वह भी पूरे देश में कर्मचारियों को एकजुट करने का फैसला किया गया है। शनिवार को दिल्ली में अखिल भारतीय समानता मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष ई.एम नागराज, राष्ट्रीय महासचिव ई.विनोद नौटियाल, सर्वजन हिताय समिति के अध्यक्ष ई.शैलेंद्र दुबे, मध्य प्रदेश से सपाक्स के अध्यक्ष डॉ.केएस तोमर व अन्य संगठनों के साथ बैठक कर आगे की रणनीति तय की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस