जागरण संवाददाता, देहरादून। दून में जालसाजों ने स्टेट बैंक आफ इंडिया (एसबीआइ) को 2.88 लाख रुपये की चपत लगा दी। यह धोखाधड़ी एटीएम मशीन के तकनीकी पेच का फायदा उठाकर की गई। इस प्रकरण में एसबीआइ की मुख्य शाखा के सहायक महाप्रबंधक की तहरीर पर गुरुवार को डालनवाला कोतवाली में अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

कोतवाली के इंस्पेक्टर मणिभूषण श्रीवास्तव ने बताया कि डालनवाला में कान्वेंट रोड स्थित एसबीआइ की मुख्य शाखा के सहायक महाप्रबंधक कमलेश सिंह राणा ने बुधवार को इस संबंध में तहरीर दी। इसमें बताया गया कि बीते वर्ष 17 मार्च से पांच मई के बीच जिले में बैंक की विभिन्न एटीएम मशीन से धोखाधड़ी कर दो लाख 88 हजार रुपये निकाले गए हैं।

ऐसे की धोखाधड़ी

तहरीर में बैंक की तरफ से बताया गया कि धोखाधड़ी की बात सामने आने पर मामले की जांच कराई गई। इसमें पता चला कि आरोपित मशीन में कार्ड स्वैप करने के बाद धनराशि अंकित तो करते थे, मगर एटीएम में जहां से धन निकासी होती है, उस स्थान को हाथ से ढक देते थे। 10 से 15 मिनट तक ऐसा करने पर सेंसर के काम नहीं करने की वजह से एटीएम आउट आफ सर्विस मोड में चला जाता है।

इससे एटीएम से निकलने वाली रसीद में आहरित धनराशि के बजाय एरर का संदेश प्रिंट होकर आता है, जबकि हाथ हटाते ही करंसी भी बाहर आ जाती है। ऐसा इसलिए कि बैंकों ने एटीएम में धन वापसी की व्यवस्था अब समाप्त कर दी है। इस तरह एटीएम से धन लेने के बाद भी आरोपित बैंक में एरर वाली रसीद के साथ धन नहीं निकलने की शिकायत करते थे। नियमानुसार उनके खाते में धनराशि दोबारा जमा कर दी जाती थी। इस तरह डेढ़ माह में 30 बार बैंक के साथ धोखाधड़ी की गई।

युवती के खाते से निकाले 70 हजार

एटीएम कार्ड खोने की शिकायत दर्ज कराने के लिए संबंधित बैंक का कस्टमर केयर नंबर इंटरनेट पर ढूंढना एक युवती को भारी पड़ गया। उक्त नंबर साइबर ठग का निकला, जिसने युवती के खाते से 70 हजार रुपये निकाल लिए। इस प्रकरण में नेहरू कालोनी थाना पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। पीडि़त कामिनी निवासी नेहरू कालोनी ने बताया कि 26 जुलाई को उनका एटीएम कार्ड गुम हो गया। उन्होंने इंटरनेट पर संबंधित बैंक का कस्टमेयर केयर नंबर ढूंढा और उस पर फोन किया।

संबंधित व्यक्ति ने शिकायत दर्ज करने के नाम पर उनसे बैंक खाते की समस्त जानकारी हासिल कर ली और 70 हजार रुपये निकाल लिए। इसी तरह क्रेडिट कार्ड से जुड़ी समस्या की शिकायत करने के लिए एक व्यक्ति ने संबंधित बैंक का कस्टमेयर केयर नंबर इंटरनेट पर ढूंढा। उक्त नंबर भी साइबर ठग का निकला, जिसने पीडि़त से उसके दो बैंक खातों की जानकारी लेकर उनसे 64 हजार रुपये निकाल लिए। शिकायतकर्ता ऋषभ बडोनी निवासी मयूर कालोनी नेहरूग्राम ने रायपुर थाना पुलिस को बताया कि आरोपित ने उन्हें खुद को एसबीआइ क्रेडिट कार्ड कस्टमर केयर का प्रतिनिधि बताते हुए झांसे में लिया था।

यह भी पढ़ें- एमडीडीए के नाम पर उगाही करने पहुंचा पीआरडी जवान, शक होने पर लोगों ने पकड़ा; किया पुलिस के हवाले

Edited By: Raksha Panthri