देहरादून, राज्य ब्यूरो। राज्य सहकारी बैंक की काशीपुर शाखा में वित्तीय अनियमितता के मामले में प्रबंध निदेशक ने चतुर्थ श्रेणी के पद पर तैनात कर्मचारी देवेंद्र सिंह दानू को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। इसके साथ ही पूरे मामले की जांच एजीएम सूर्य प्रकाश को सौंपी गई है।

 सहकारी बैंक की काशीपुर शाखा में तैनात देवेंद्र सिंह दानू पर आरोप है कि उन्होंने बैंक द्वारा संचालित ऋण खातों से तकरीबन 3.50 लाख रुपये का गबन किया है। यह राशि तीन विभिन्न खातों से निकाली गई है। इसके लिए आरोपित कर्मचारी ने बैंक सहयोगियों की आइडी व पासवर्ड चोरी किए। इसके बाद ऋण खातों की सीडीएल लिमिट बढ़ाते हुए इनके खातों से पैसे निकाल कर अपने खाते में डाल दिए। 

आरोपित कर्मचारी द्वारा इस पूरी घटना को जुलाई में ही अंजाम दे दिया गया था लेकिन मुख्यालय को इसकी जानकारी चार अक्टूबर को दी गई। यह घटना सामने आने के बाद अब प्रबंध निदेशक ने आरोपित कर्मचारी को निलंबित करते हुए उन्हें मुख्यालय में तैनात किया है। अपने आदेश में प्रबंध निदेशक ने बैंकिंग पासवर्ड के चोरी होने को गंभीर मानते हुए इसे सुरक्षा से खिलवाड़ भी माना है और इसकी जांच करने को कहा है।

आदेश में यह भी कहा गया है कि जब आरोपित कर्मचारी पहले भी गबन कर  चुका है तो शाखा में इस तथ्य को जानते हुए भी अतिरिक्त सुरक्षा क्यों नहीं बरती गई। उन्होंने मामले की खातों के पूर्ण जानकारी न मिलने पर भी सवाल उठाया है। आदेश में शाखा द्वारा भी आईटी सिक्योरिटी पॉलिसी का उल्लंघन करने की बात भी कही गई है।

यह भी पढ़ें: किट्टी धोखाधड़ी में गिरफ्तार दो बहनों को कोर्ट में किया पेश, भेजा जेल

प्रबंध निदेशक दीपक कुमार ने कहा कि मामले की गंभीरता को देखते हुए आरोपित कर्मचारी को निलंबित कर दिया गया है। मामले में कुछ अन्य बिंदु सुरक्षा नीति के उल्लंघन के सामने आए हैं। इसके लिए पूरे मामले की जांच एजीएम स्तर से कराई जा रही है।

यह भी पढ़ें: तंत्र-मंत्र से बीमार बालिका को ठीक करने का किया दावा, पिता से ठग ली सोने की चेन

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप