जागरण संवाददाता, ऋषिकेश। Kisan Andolan किसान विरोधी काले कानून को रद्द किए जाने की मांग को लेकर उत्तराखंड कांग्रेस कमेटी 15 जनवरी को राजभवन का घेराव करेगी। इसको लेकर बैठक की गई। इस दौरान नगर अध्यक्ष महंत विनय सारस्वत ने बताया कि ऋषिकेश से भी चार बड़ी बसें और 20 कारें देहरादून जाएंगी।  

राजभवन घेराव की तैयारी को लेकर ऋषिकेश में बैठक का आयोजन हुआ। इस दौरान बैठक की अध्यक्षता करते हुए नगर अध्यक्ष महंत विनय सारस्वत ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार इस काले कानून को लेकर अड़ियल रवैया अपना रही है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार कुछ चुनिंदा बड़े पूंजीपतियों के हाथों में खेल रही है। 

केंद्र सरकार उनके हितों को साधने के लिए कानून रद्द नही कर रही है। उन्होंने कहा कि जब तक यह कानून रद्द नहीं किया जाएगा तब तक कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी और किसानों को अपना समर्थन देती रहेगी। बैठक में प्रदेश सचिव मदन मोहन शर्मा, एआईसीसी सदस्य जयेंद्र रमोला, विमला रावत, महिला कांग्रेस अध्यक्ष मधु जोशी, अरविंद जैन, प्यारे लाल जुग्लान, ललित मोहन मिश्र, राजकुमार तलवार, नंद किशोर जाटव, प्रदीप जैन, उमा ओबेराय, विवेक तिवारी, प्रदीप जैन, संजय शर्मा, अशोक शर्मा, इमरान सैफी आदि मौजूद रहे।

राजभवन कूच में शामिल होंगे कांग्रेस प्रदेश प्रभारी 

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी 15 जनवरी को राजभवन कूच करेगी। किसान अधिकार दिवस के रूप में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में राजभवन घेराव किया जाना है। कार्यक्रम में प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव, सहप्रभारी राजेश धर्माणी, नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश, पार्टी के सांसद, पूर्व सांसद, विधायक, पूर्व विधायकों सहित वरिष्ठ नेता व कार्यकर्ता इसमें शामिल होंगे। बुधवार को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री संगठन विजय सारस्वत ने कहा कि किसान विरोधी कानूनों के खिलाफ कांग्रेस पार्टी लगातार लड़ाई लड़ रही है। इसी के 15 जनवरी को दिन के 11 बजे राजपुर रोड स्थित प्रदेश कार्यालय से राजभवन कूच किया जाएगा। 

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड सचिवालय संघ का चुनाव 22 जनवरी को, इसी दिन घोषित हो जाएंगे परिणाम

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021