जागरण संवाददाता, देहरादून : राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम ने किसानों को मत्स्य पालन के लिए प्रेरित किया। मुख्य अतिथि काबीना मंत्री रेखा आर्य ने मत्स्य किसानों को जल्द सस्ती बिजली दिलाने की बात कही। साथ ही तालाब का बीमा कराने की घोषणा भी की। सोमवार को सर्वे चौक स्थित आइआरडीटी सभागार में राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम की ओर से एक दिवसीय राज्यस्तरीय जागरूकता एवं प्रशिक्षण शिविर लगाया गया। मुख्य अतिथि कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या ने दीप प्रज्वलित कर शिविर की शुरुआत की।

प्रदेश भर के किसानों ने प्रशिक्षण शिविर में प्रतिभाग किया। एनसीडीसी की क्षेत्रीय निदेशक दीपा श्रीवास्तव ने कहा कि केंद्र और राज्य स रकार ने मत्स्य पालन के लिए ब्याज दर में भारी छूट दी है। जिससे किसान योजना का लाभ ले सकें। जो किसान मत्स्य पालन कर रहे हैं, उन्हें योजना को आगे बढ़ाने के लिए समूह का गठन करना चाहिए। जिससे अन्य लोग को भी योजना के बारे में जानकारी मिल सके। रेखा आर्य ने कहा कि मत्स्य पालन करने से पहले किसानों को प्रशिक्षण लेना जरूरी है। जिससे मत्स्य पालन में परेशानियों का सामना न करना पड़े। कहा कि राज्य प्रति वर्ष 148 टन मत्स्य उत्पादन कर रहा है।

यह भी पढ़ें- देहरादून: कैंट क्षेत्र में एलईडी स्ट्रीट लाइटों का होगा विस्तार, मुख्य मार्गों और गली-मोहल्लों में मिलेगी आमजन को सुविधा

मत्स्य पालन कर रहे किसानों को अन्य किसानों की तरह सस्ती बिजली देना कैबिनेट में तय किया गया था, लेकिन ऊर्जा विभाग के कारण सस्ती बिजली मिलने में देरी हो रही है। मुख्यमंत्री से इस विषय पर चर्चा की जाएगी। इसके अलावा बरसात में किसानों के तालाब बह जाते हैं। इस नुकसान की भरपाई के लिए तालाब का बीमा किया जाएगा। इस अवसर पर सचिव मत्स्य सहकारिता डा. आर मीनाक्षी सुंदरम, नेपाल सिंह कश्यप, आलोक कुमार पांडे, देबजीत शर्मा, एच के पुरोहित, अमित कुमार निगम आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- ऋषिकेश: स्वच्छता अभियान में मदद करने वालों को महापौर ने किया सम्मानित, दिलाया अभियान में सहयोग का संकल्प