कालसी (देहरादून),  जेएनएन। विकासखंड कालसी अंतर्गत ग्राम पटियाना स्थित एक छानी में शनिवार को आग लगने से कुल आठ मवेशी जिंदा जल गए। इस घटना से पशुपालक को लाखों रुपये का नुकसान हुआ है। सूचना मिलने पर तहसील प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची और नुकसान का जायजा लिया।  

पटियाना निवासी तुलसीदास पुत्र बैसाकू दास की गांव से काफी दूर चंदला नामक स्थान पर छानी है, जिसमें उसने चार बैल, दो दुधारू गाय, दो बछड़े बांधे हुए थे। पशुपालक शुक्रवार की शाम को मवेशियों को छानी में बांधकर रात को घर आ गया। शुक्रवार की रात में किसी समय छानी में आग लग गई, जिससे मवेशियों में अफरा तफरी मच गई, लेकिन रस्सी के सहारे बंधे मवेशी अपना बचाव नहीं कर सके और आठ मवेशी जिंदा जल गए। गनीमत रही कि उस रात को पशुपालक छानी में नहीं रुका था, क्योंकि देर होने पर कई बार पशुपालक छानी में ही रुक जाया करता था। आग इतनी विकराल थी कि उसमें बंधे हुए एक भी मवेशी नहीं बचे। 

छानी में पशुपालक के रखे गए सामान बिस्तर, बर्तन व लकड़ि‍यां आदि सब जलकर राख हो गया। छानी में आग देखकर कुईथा के ग्रामीण मौके की ओर दौड़े, जब तक दोनों गांवों के ग्रामीणों ने आग पर काबू पाने की कोशिश की, तब तक सबकुछ जल चुका था। ग्राम पंचायत प्रधान अमृता भट्ट ने तहसीलदार कालसी से क्षति का आकलन कर पीड़ि‍त व्यक्ति को उचित मुआवजा देने की मांग की। 

यह भी पढ़ें: सड़क पर दौड़ रही कार के बोनट से उठने लगा धुआं, चालक के उतरते ही बनी आग का गोला

सूचना पर शनिवार को थैना क्षेत्र के पटवारी प्यारे राम शर्मा, पशु चिकित्सा अधिकारी कालसी डॉ. वरुण अग्रवाल, प्रभारी कानूनगो भोपाल दास, दिनेश भंडारी घटनास्थल पर पहुंचे और नुकसान का आकलन किया। राजस्व उपनिरीक्षक शर्मा के अनुसार क्षति का आकलन कर रिपोर्ट तहसीलदार को सौंप दी है। तहसीलदार कालसी एसपी उनियाल का कहना है कि क्षेत्र पटवारी की रिपोर्ट के बाद पीड़ि‍त व्यक्ति को उचित मुआवजा दिया जाएगा। 

यह भी पढ़ें: मैदान में खड़ी पांच कारें संदिग्ध परिस्थितियों में जलकर हुई कबाड़ Dehradun News

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस