जागरण संवाददाता, देहरादून। देहरादून में एक शादीशुदा व्यक्ति ने खुद को अविवाहित बताकर युवती को पहले तो प्रेमजाल में फंसा लिया। इसके बाद उसने शादी करने का झांसा देकर युवती के साथ कई बार शारीरिक संबंध बनाए। जब युवती को उसके शादीशुदा और दो बच्चों का बाप होने की जानकारी मिली तो उसने दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए पटेलनगर कोतवाली में तहरीर दे दी। मंगलवार को पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया।

इंस्पेक्टर प्रदीप बिष्ट के अनुसार, पित्थूवाला क्षेत्र में रहने वाली पीड़ित युवती ने तहरीर में बताया कि कुछ समय पहले उसकी जान-पहचान मुकेश से हुई थी। धीरे-धीरे दोनों में दोस्ती हो गई और ये दोस्ती फिर प्यार में बदल गई। इसके बाद मुकेश ने युवती के सामने शादी का प्रस्ताव रख दिया, जिसपर युवती सहमत हो गई। फिर मुकेश घुमाने के बहाने कई बार युवती को बाहर ले गया और उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए। 

इस बीच आरोपित ने युवती से एक मंदिर में शादी भी कर ली। एक दिन अचानक युवती को पता चला कि मुकेश पहले से ही शादीशुदा है और उसके दो बच्चे भी हैं। उसने इस बात पर भरोसा नहीं किया और मुकेश से कहा कि वो उसे अपने घर ले जाए, लेकिन जब युवक टालमटोल करने लगा तो युवती का शक पुख्ता हो गया और वो पुलिस के पास पहुंच गई। 

लूट का पर्दाफाश करने वाली टीम को प्रशस्ति पत्र

तहसील चौक पर महिला से लूट के मामले में दो लुटेरों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को पूर्व पुलिस महानिदेशक अनिल के रतूड़ी ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इसके अलावा पूरी टीम को 20 हजार रुपये का नकद इनाम भी दिया गया है। पूर्व पुलिस महानिदेशक ने कहा कि जिस तरह से पूरी पुलिस टीम ने मेहनत व लगन से घटना का पर्दाफाश किया है वह काबिले तारीफ है। सम्मानित होने वाले पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों में एसपी सिटी श्वेता चौबे, सीओ सिटी शेखर सुयाल, निरीक्षक शिशुपाल सिंह नेगी, प्रभाऱी निरीक्षक एसओजी ऐश्वर्यपाल, एसओ धर्मेन्द्र सिंह रौतेला, थानाध्यक्ष दिलवर सिंह नेगी, एसएसआइ लोकेन्द्र बहुगुणा, मोहन सिंह, एसओ शिशुपाल सिंह राणा, एसआइ पंकज तिवारी, हर्ष अरोड़ा चौकी, आशीष रावत व 12 कांस्टेबल शामिल थे।

यह भी पढ़ें: Dehradun: दृष्टिबाधित युवती के साथ किराएदार एक साल से कर रहा था दुष्कर्म, हुई गर्भवती

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021