जागरण संवाददाता, देहरादून : सरकारी दफ्तरों में पारदर्शिता एवं गतिशीलता के लिए ई-ऑफिस प्रणाली को अपनाना जरूरी है। इससे आम जनता को दफ्तरों के चक्कर काटने से राहत मिलेगी तो अधिकारियों का भी समय बचेगा। यह बात मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शुक्रवार को दून के विकास भवन एवं तहसील सदर के ई-ऑफिस के वर्चुअल उद्घाटन मौके पर कही।

इस मौके पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने न्यू कैंट मार्ग स्थित आवास से जिलाधिकारी देहरादून डॉ. आशीष श्रीवास्तव के साथ मिलकर दून कलक्ट्रेट के सभागार 'ऋषिपर्णा' का लोकार्पण भी किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने ई-प्रणाली को बढ़ावा दिया है। आमजन से जुड़े इन कार्यालयों में ई-ऑफिस प्रणाली शुरू होने से सरकार और प्रशासन के प्रति लोग का विश्वास बढ़ेगा। फाइलों की जानकारी भी लोग को ऑनलाइन प्राप्त होगी। उन्होंने बताया कि सचिवालय में भी 16 ऑफिस ई-प्रणाली से जुड़ चुके हैं। जिलाधिकारी डॉ. आशीष श्रीवास्तव ने कहा कि देहरादून प्रदेश का पहला जनपद है, जहा कलक्ट्रेट एवं विकास भवन ई-ऑफिस से जुड़ चुके हैं। अन्य तहसीलों को भी जल्द ई-ऑफिस से जोड़ा जाएगा। मुख्य विकास अधिकारी नितिका खंडेलवाल ने कहा कि दूसरे चरण में जनपद के सभी विकासखंडों एवं तृतीय चरण में अन्य कार्यालयों को ई-प्रणाली से जोड़ा जाएगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के आइटी सलाहकार रविंद्र दत्त, एडीएम अरविंद पाडे, एडीएम वित्त वीर सिंह बुदियाल समेत अन्य शामिल रहे।

सभागार में सजेगी चंद्र कुंवर बर्तवाल की कविता

ऋषिपर्णा सभागार की दीवार पर उत्तराखंड के प्रसिद्ध कवि चंद्र कुंवर बर्तवाल की ऋषिपर्णा पर लिखी कविता भी सुशोभित होगी। मुख्यमंत्री ने इसके आदेश जिलाधिकारी को दिए। उन्होंने कहा कि ऋषिपर्णा नदी की स्वच्छता एवं निर्मलता का बखान करती यह कविता सभागार को और जीवंत बना देगी।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस