ऋषिकेश, [जेएनएन]: शिवपुरी से दोगी पट्टी के तिमली गांव को जोड़ने वाले मार्ग पर गुरुवार देर रात दो हाथी धमक आए। हाथियों ने यहां खड़े एक वाहन का शीशा तोड़ दिया। हाथियों को खदेड़ने गए ग्रामीणों को भी हाथियों ने दौड़ाया। देर रात तक ग्रामीण हाथियों को भगाने की कोशिश में जुटे हुए थे।

शिवपुरी से करीब पांच किलोमीटर ऊपर तिमली मार्ग पर पिछले तीन दिनों से हाथियों की आमद बनी हुई है। बुधवार रात भी हाथी ने यहां तिमली गांव में ग्रामीणों की फसल रौंद दी थी। गुरुवार रात्रि करीब नौ बजे दो हाथी तिमली के समीप स्थित मंदिर के पास आ धमके। यहां खड़ी स्थानीय निवासी राजवीर सिंह भंडारी की कार का शीशा हाथी ने हमला कर तोड़ दिया। 

देर रात यहां तिमली मार्ग पर निर्माण कार्य के बाद शिवपुरी लौट रहे मजदूरों को भी हाथियों ने दौड़ा दिया। स्थानीय ग्रामीणों ने पटाखे जलाकर हाथी को भगाने की कोशिश की। मगर रात्रि करीब 11 बजे तक दोनों हाथी क्षेत्र में ही जमे हुए थे। हाथियों ने भगाने गए ग्रामीणों पर भी हाथियों ने हमला करने की कोशिश की। 

स्थानीय निवासी राजबीर सिंह भंडारी ने बताया कि वन विभाग को कई बार हाथियों से सुरक्षा के लिए गुहार लगाई गई है। मगर वन विभाग इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है। गुरुवार देर रात भी सूचना के बावजूद वन विभाग का कोई कर्मचारी मौके पर नहीं पहुंचा था।

यह भी पढ़ें: ट्रैक पर आया हाथियों का झुंड, रेल की गति धीमी कर टाला हादसा

यह भी पढ़ें: कोटद्वार में स्कूल में घुसा हाथी, देहरादून में रौंद रहे फसल; लोगों में दहशत

Posted By: Sunil Negi