देहरादून, [जेएनएन]: नए टैरिफ में सस्ती हुई बिजली का सबसे ज्यादा फायदा उद्योगों को हुआ है। अगर सबसे कम फायदा किसी को हुआ तो वह घरेलू उपभोक्ता हैं। आयोग ने न्यूनतम खपत गारंटी (एमसीजी) को भी खत्म दिया है। हालांकि, एमसीजी उद्योगों के साथ अघरेलू उपभोक्ताओं पर भी लागू होती थी। इसके तहत उक्त उपभोक्ताओं के कनेक्शन पर बिजली की न्यूनतम खपत निर्धारित होती थी। यानी निर्धारित से कम खपत होने पर चार्ज देना पड़ता था। उद्योगों के लिए कनेक्शन की क्षमता के अनुसार नौ फीसद और अघरेलू के आठ फीसद खपत निर्धारित थी।

आयोग के समक्ष उद्यामियों के संगठनों ने यह कहते हुए इसे खत्म करने की गुजारिश की थी कि उद्योग, होटल व अन्य प्रतिष्ठान के बंद रहने की स्थिति में अतिरिक्त भार पड़ता है। बिजली दरों की बात करें तो एलटी इंडस्ट्री (छोटे उद्योग) को 3.93 फीसद (22 पैसे प्रति यूनिट) और एचटी इंस्डस्ट्री (भारी उद्योग) को 3.52 फीसद (20 पैसे प्रति यूनिट) की राहत मिली है। वहीं, अघरेलू श्रेणी के उपभोक्ताओं की बिजली दरों में 2.42 फीसद (14 पैसे प्रति यूनिट) की कमी आई है। इसके अतिरिक्त फिक्स चार्ज भी घरेलू उपभोक्ताओं के मुकाबले औद्योगिक व अघरेलू श्रेणी का कम बढ़ा है।

अविरल आपूर्ति सरचार्ज में भी राहत 

प्रदेश में 50 से अधिक औद्योगिक इकाइयां ऐसी हैं, जिसमें 24 घंटे बिजली आपूर्ति की जाती है। ऐसे में इन उद्योगों से अविरल आपूर्ति सरचार्ज लिया जाता है। अभी तक कुल खपत पर यह सरचार्ज 15 फीसद था, जिसे आयोग ने घटाकर दस फीसद कर दिया है।

ऑफ पीक आवॅर में उपभोग पर प्रोत्साहन बढ़ा 

ऑफ पीक आवॅर में बिजली उपभोग करने पर उद्योगों को दरों में 15 फीसद छूट मिलेगी। अभी तक यह दस फीसद थी। यूईआरसी सचिव नीरज सती ने बताया कि सर्दियों में सुबह छह से साढ़े नौ, शाम 5.30 से रात दस बजे तक और गर्मियों में शाम पांच से रात दस बजे तक पीक ऑवर होते हैं। इस दौरान बिजली की मांग ज्यादा होती है। इस अवधि में बिजली उपभोग पर 25 फीसद सरचार्ज लगता है। जबकि, ऑफ पीक आवर (रात दस से सुबह छह बजे तक) में बिजली उपभोग करने वालों को दरों में 15 फीसद की छूट मिलेगी।

बिजली दरें 

घरेलू

श्रेणी--------------------------वर्तमान----------------नई दर  

बीपीएल------------------------2.21----------------1.91 

0-100 यूनिट-----------------3.2------------------3.2

101- 200 यूनिट------------3.48----------------3.45

201-300 यूनिट--------------4.02----------------4.05 

301-400 यूनिट--------------4.25-----------------4.21

400 यूनिट से अधिक--------4.55----------------4.62

समारोह के लिए कनेक्शन---4.66----------------4.73 

अघरेलू 

श्रेणी--------------------------------------------------------वर्तमान--------नई दर  

कनेक्शन क्षमता (25 किलोवाट तक)--------------------6.03-----------5.89  

कनेक्शन क्षमता (25 किलोवाट से अधिक--------------6.42----------6.29   

सरकारी विभागों, शैक्षणिक संस्थान एवं चिकित्सालय--4.84--------4.60

एलटी इंडस्ट्री (छोटे उद्योग)--------------------------------5.73--------5.50 

एचटी इंस्डस्ट्री (भारी उद्योग)------------------------------5.72--------5.53 

पब्लिक लैंप्स--------------------------------------------------5.42--------5.29

पब्लिक वाटर वक्र्स-------------------------------------------5.29--------5.21 

निजी ट्यूबवैल-------------------------------------------------1.84--------1.84 

(इसमें फिक्स चार्ज समायोजित है)

बीपीएल को छोड़ सभी श्रेणी में बढ़ा फिक्स चार्ज 

नए टैरिफ में बीपीएल श्रेणी और हिमाच्छादित क्षेत्रों के फिक्स चार्ज में वृद्धि नहीं की गई है। यह 18 रुपये प्रतिमाह ही है। लेकिन, अन्य श्रेणियों में फिक्स चार्ज बढ़ाया गया है। यूईआरसी सचिव नीरज सती ने बताया कि इसके बावजूद औसत बिजली दर वर्तमान के सापेक्ष कम ही हैं। 

फिक्स चार्ज

घरेलू------------------------वर्तमान--------नए (रुपये प्रतिमाह) 

0-100 यूनिट----------------45----------------55 

101- 200 यूनिट-----------70----------------80

201-300 यूनिट------------110----------------135

301 से 400 यूनिट-------135

401 से 500 यूनिट--------180---------------220

500 से अधिक---------------210---------------220

अघरेलू (रुपये प्रति किलोवाट)

कनेक्शन क्षमता (25 किलोवाट एवं इससे ज्यादा तक), 65, 70

सरकारी विभागों, शैक्षणिक संस्थान एवं चिकित्सालय:

25 किलोवाट तक--------55--------60

25 किलोवाट से अधिक---60-------70 

एलटी इंडस्ट्री, 140, 145 (रुपये प्रति किलोवाट)

यह भी पढ़ें: उत्‍तराखंड में सस्ती हुई बिजली, उपभोक्ताओं को बड़ी राहत

यह भी पढ़ें: अब उत्तराखंड में पर्यटन से जुड़ेंगे कृषि और उद्यान

यह भी पढ़ें: हिमालय की वादियों में फिर गुलजार होने लगा भोजवृक्ष का जंगल

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस