राज्य ब्यूरो, देहरादून। शासन ने आठ कालेजों को स्नातक स्तर से स्नातकोत्तर (पीजी) स्तर पर उच्चीकृत कर दिया है। इन आठ कालेजों में 24 नए पद भी सृजित किए गए हैं। इसके साथ ही शासन ने मुख्यमंत्री की स्वीकृति के बाद प्रदेश में तीन नए राजकीय स्नातक कालेज खोलने का शासनादेश जारी कर दिया है। ये तीन कालेज राजकीय कालेज खिर्सू, राजकीय कालेज देवाल व राजकीय कालेज नानकमत्ता हैं।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कुछ समय पहले कई स्नातक कालेजों को उच्चीकृत कर पीजी कालेज बनाने और नए राजकीय कालेज बनाने की भी घोषणा की थी। इस क्रम में प्रभारी सचिव, उच्च शिक्षा दीपेंद्र कुमार चौधरी ने आठ कालेजों को पीजी कालेज बनाने के आदेश जारी कर दिए हैं। उच्च शिक्षा मंत्री डा धन सिंह रावत ने बताया कि उच्चीकृत किए गए कालेजों में राजकीय कालेज मुनस्यारी, राजकीय कालेज गैरसैंण, राजकीय कालेज थलीसैंण, राजकीय कालेज कपकोट, राजकीय कालेज सोमेश्वर, राजकीय कालेज हल्दूचौड़, राजकीय कालेज पुरोला और राजकीय कालेज लक्सर शामिल हैं।

राजकीय कालेज मुनस्यारी में हिंदी विषय के दो पद और राजकीय कालेज गैरसैंण में अंग्रेजी विषय के दो पद सृजित किए गए हैं। शेष छह कालेजों में हिंदी व अंग्रेजी दोनों ही विषयों के दो-दो पद सृजित किए गए हैं। इसके अलावा शासन ने तीन नए कालेजों की स्थापना का शासनादेश भी जारी कर दिया है। पौड़ी जिले में राजकीय कालेज खिूर्स की स्थापना आदेश के साथ ही इसमें कला संकाय के 10 पद सृजित किए गए हैं। इसके अलावा चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के चार पद संविदा के आधार पर स्वीकृत किए हैं।

चमोली जिले के देवाल में नए राजकीय कालेज की स्थापना के साथ ही इसमें कला एवं संकाय के 14 पद सृजित किए गए हैं। इसके अलावा चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के चार पद संविदा के आधार पर स्वीकृत किए गए हैं। ऊधमसिंह नगर जिले के अंतर्गत नानकमत्ता के लिए भी कला एवं विज्ञान संकाय में 22 पद सृजित किए गए हैं। चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के चार पद संविदा के आधार पर स्वीकृत किए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार स्थानीय स्तर पर रोजगारपरक एवं गुणवत्तापूर्ण उच्च शिक्षा उपलब्ध कराने के प्रति संकल्पबद्ध है।

Edited By: Sunil Negi