PreviousNext

ड्रग लाइसेंस को नहीं लगाने होंगे चक्कर, एक क्लिक पर होगा मुमकिन

Publish Date:Tue, 08 Aug 2017 12:06 PM (IST) | Updated Date:Tue, 08 Aug 2017 09:05 PM (IST)
ड्रग लाइसेंस को नहीं लगाने होंगे चक्कर, एक क्लिक पर होगा मुमकिनड्रग लाइसेंस को नहीं लगाने होंगे चक्कर, एक क्लिक पर होगा मुमकिन
राज्य का औषधि विभाग भी अब ऑनलाइन होने जा रहा है। जिसके बाद नए लाइसेंस और नवीनीकरण के लिए कार्यालय के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे।

देहरादून, [जेएनएन]: राज्य का औषधि विभाग भी अब ऑनलाइन होने जा रहा है। जिसके बाद नए लाइसेंस और नवीनीकरण के लिए कार्यालय के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। यह सब एक क्लिक पर मुमकिन होगा। 

खाद्य सुरक्षा विभाग में लाइसेंस व पंजीकरण की व्यवस्था काफी पहले ऑनलाइन की जा चुकी है। लेकिन, ड्रग लाइसेंस के लिए आवेदन और नवीनीकरण की व्यवस्था पुराने ढर्रे पर ही चल रही है। अब विभाग ने इसे ऑनलाइन करने की तैयारी कर ली है। जिसके तहत ड्रग लाइसेंस के इच्छुक लोग इसके लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। 

 अब तक लोगों को लाइसेंस के लिए कार्यालय के चक्कर काटने पड़ते हैं। इसमें तमाम तरह की शिकायतें भी रहती हैं। लेकिन, ऑनलाइन प्रणाली में शिकायतें कम रहेंगी। ऑनलाइन आवेदन के बाद औषधि निरीक्षक प्रस्तावित दुकान आदि का भ्रमण कर लाइसेंस को स्वीकृति देंगे या कमियां पाए जाने पर उसे अस्वीकृत करेंगे। औषधि नियंत्रक ताजबर सिंह जग्गी ने बताया कि इस बावत प्रक्रिया गतिमान है। अगले कुछ वक्त में ऑनलाइन व्यवस्था लागू कर दी जाएगी। 

 वेबसाइट पर रहेगा पूरा विवरण

ऑनलाइन प्रणाली लागू होने के बाद विभाग की वेबसाइट पर दवा प्रतिष्ठानों का पूरा विवरण रहेगा। लाइसेंसी के फोन नंबर, ई-मेल आदि का ब्योरा भी उपलब्ध होगा। दूसरी ओर, इस प्रणाली से व्यवसाय में पारदर्शिता भी आएगी। लाइसेंस के लिए फार्मेसिस्ट की अनिवार्यता है। अब तक एक ही फार्मेसिस्ट कई प्रतिष्ठानों से अपने नाम का पंजीकरण करा लेते हैं। ऑफलाइन प्रणाली में यह बात सामने नहीं आ पाती। लेकिन, ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया में एक फार्मेसिस्ट के नाम का पंजीकरण एक से अधिक प्रतिष्ठानों के लिए नहीं हो सकेगा।

 परेशान कर सकती हैं व्यवस्थाएं

ऑनलाइन प्रणाली में अभी कुछ वक्त और लग सकता है। इसे लेकर विभाग को अभी आवश्यक संसाधन जुटाने होंगे। इसके अलावा कर्मियों को प्रशिक्षण भी दिया जाना है। सॉफ्टवेयर इंस्टॉल होने और इसे सही ढंग से क्रियाशील होने में भी वक्त लगेगा।

 

 

 यह भी पढ़ें: उत्तराखंड को मिलेंगे 220 नए आधार कार्ड सेंटर

यह भी पढ़ें: आधार कार्ड पाए गए गलत, 60 हजार लोगों की रोकी पेंशन 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड को यूपी से मिलेगा पेंशन का 2933 करोड़

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Drug license process will be online in Uttarakhand(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

उत्‍तराखंड: मोदी लहर की टीस, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत भए 'कवि'विज्ञान के क्षेत्र में देश में कर्इ संभावनाएं: सीएनआर राव