देहारदून, जेएनएन। चमोली जिले में समुद्रतल से 15225 फीट की ऊंचाई पर स्थित हिमालय के पांचवें धाम हेमकुंड साहिब और लोकपाल लक्ष्मण मंदिर के कपाट गुरुवार को शीतकाल के लिए बंद कर दिए जाएंगे। हेमकुंड साहिब के कपाट दोपहर दो बजे तो लोकपाल लक्ष्मण मंदिर के कपाट दोपहर 12 बजे बंद होंगे। इसके लिए सभी तैयारियां पूरी कर दी गई हैं। 

गुरुद्वारा के कपाट बंद किए जाने से पूर्व सुबह हुकुमनामा का पाठ होगा। इसके बाद सबद-कीर्तन और अरदास होगी। फिर दोपहर 12.30 बजे अंतिम अरदास के उपरांत पंज प्यारों की अगुआई में गुरुग्रंथ साहिब को दरबार साहिब से बाहर लाया जाएगा। कपाटबंदी के मौके पर सरदार जनक सिंह और सरदार कुलवंत सिंह के जत्थों के साथ तीन हजार से अधिक श्रद्धालु मौजूद रहेंगे। 

कपाटबंदी के कार्यक्रम सुबह दस बजे शुरू 

-मुख्य ग्रंथी मिलाप सिंह और खुशवंत सिंह की अगुआई में सुखमणि साहिब का पाठ सुबह 11.20 बजे। 

-सबद-कीर्तन दोपहर 12.20 बजे।

-इस साल की अंतिम अरदास दोपहर एक बजे 

-गुरुग्रंथ साहिब का हुकुमनामा लिया जायगा दोपहर दो बजे कपाट बंद किए जाएंगे। 

-पौने तीन लाख श्रद्धालुओं ने टेका मत्था श्री हेमकुंड साहिब में इस बार रिकॉर्ड 2.80 लाख श्रद्धालुओं मत्था टेका। वर्ष 2013 की आपदा के बाद पहली बार इतनी बड़ी संख्या में श्रद्धालु हेमकुंड साहिब पहुंचे।

यह भी पढ़ें: Chardham Yatra: पहली बार केदारनाथ दर्शनों को पहुंच चुके नौ लाख श्रद्धालु

चारधाम के कपाट बंद होने की तिथियां घोषित 

वहीं, शीतकाल के लिए चारधाम के कपाट बंद होने की तारीखें भी घोषित कर दी गई हैं। दशहरे पर बदरीनाथ धाम के कपाट बंद होने की तिथि का एलान किया गया। बदरी धाम के कपाट 17 नवंबर को शाम पांच बजकर 13 मिनट पर बंद किए जाएंगे। वहीं, विजयदशमी पर ही केदारनाथ और गंगोत्री धाम के कपाट बंद करने का शुभ मुहूर्त भी निकाला गया है। आपको बता दें कि केदारनाथ और यमुनोत्री धाम के कपाट भैया दूज पर 29 अक्टूबर और गंगोत्री के कपाट अन्नकूट पर्व पर 28 अक्टूबर को बंद कर दिए जाएंगे।

यह भी पढ़ें: केदारनाथ समेत चारधाम के कपाट शीतकाल के लिए इन तिथियों में होंगे बंद, जानिए

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस