जागरण संवाददाता, देहरादून: नागरिकता संशोधन कानून को लेकर पड़ोसी राज्यों में बढ़ते बवाल को देखते हुए देहरादून पुलिस अलर्ट मोड में रही। मस्जिदों के आसपास व शहर और देहात के मिश्रित आबादी वाले क्षेत्रों में सुबह से भारी पुलिस बल तैनात रहा। कानून के विरोध में मस्जिदों में काली पट्टी बांधकर नमाज अता की गई। नमाज शांतिपूर्ण संपन्न होने पर पुलिस ने राहत की सांस ली।

वहीं, सीएए के विरोध और समर्थन में होने वाले प्रदर्शनों को एहतियात के तौर पर प्रशासन और पुलिस ने अनुमति देने से इन्कार कर दिया। एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि पुलिस फोर्स को अलर्ट रखा गया है। शांति व्यवस्था को प्रभावित करने वालों से सख्ती से निपटने के निर्देश दिए गए हैं। पड़ोसी राज्यों से सटी अंतरराज्यीय सीमा पर लगातार चेकिंग की जा रही है। खुफिया तंत्र को लगातार इनपुट जुटाने और साझा करते रहने का निर्देश दिया गया है।

जुमे की नमाज को लेकर प्रशासन और पुलिस के अधिकारी गुरुवार शाम से अलर्ट हो गए थे। शहर काजी और धर्म गुरुओं से अधिकारियों ने देर रात वार्ता भी की, जिसमें उनकी ओर से किसी तरह का जुलूस या रैली निकालने से मना किया गया। इसके बाद भी एहतियात के तौर पर रात में मस्जिदों और उसके आसपास के इलाकों में फोर्स की तैनाती का ड्यूटी चार्ट बनाकर सभी निर्देशित कर दिया गया था कि वह हर गतिविधि पर नजर बनाए रखें। सुबह होने पर शहर व देहात क्षेत्र के प्रमुख स्थानों पर फोर्स नजर आने लगी। शहर क्षेत्र में एसपी सिटी श्वेता चौबे लगातार संवेदनशील इलाकों के भ्रमण पर रहीं। प्रतीकात्मक विरोध के तौर पर कई मस्जिदों में काली पट्टी बांधकर नमाज अता की गई, लेकिन कहीं से जुलूस या रैली नहीं निकली। अनुमति पर लगी रोक

नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन या विरोध में प्रस्तावित किसी कार्यक्रम को अनुमति देने पर रोक लग गई है। वहीं, पूर्व में जो कार्यक्रम प्रस्तावित थे, उन्हें भी पुलिस अधिकारियों ने आयोजकों से वार्ता कर स्थगित करा दिया। सोशल मीडिया पर भी रही नजर

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर पुलिस और खुफिया तंत्र के कर्मी दिन भर सोशल मीडिया पर वायरल होने वाले मैसेजों की पड़ताल करते रहे। इस दौरान करीब आधा दर्जन मैसेजों को पुलिस ने एडमिन के माध्यम से हटवाया और चेतावनी दी कि दोबारा से विवादित मैसेज या फोटो वायरल किए गए तो कार्रवाई होगी। प्रदेश में शांति व्यवस्था बनाए रखें: सीएम

नागरिकता संसोधन एक्ट पर सीएम ने प्रदेशवासियों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है। कहा कि पुलिस को निर्देश दिए गए हैं कि राज्य में किसी प्रकार की अप्रिय घटना न हो, इसके लिए तत्परता से कार्य करें। लोकतंत्र में विरोध का अधिकार सबके पास है और इसका प्रयोग शांतिपूर्ण ढंग से करें।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस