जागरण संवाददाता, देहरादून : Doon Medical College Hospital : दून मेडिकल कालेज चिकित्सालय में चिकित्सक मनमानी और लापरवाही पर उतारू हैं। वह न तो पर्चे पर अपना नाम लिख रहे हैं और न जांच रिपोर्ट पर ही मुहर लगा रहे हैं।

चिकित्सकों को चेतावनी, पुनरावृत्ति होने पर होगी सख्त कार्रवाई

प्राचार्य डा. आशुतोष सयाना ने ऐसे चिकित्सकों को चेतावनी देते हुए इसकी पुनरावृत्ति होने पर सख्त कार्रवाई की बात कही है।

चिकित्सक अपने नाम, स्टांप और हस्ताक्षर का प्रयोग नहीं कर रहे

प्राचार्य ने बताया कि कई बार ओपीडी में पाया गया है कि मरीजों के पर्चे पर चिकित्सक अपने नाम, स्टांप और हस्ताक्षर का प्रयोग नहीं कर रहे। इससे यह पता नहीं चल पाता कि मरीज को किस चिकित्सक ने देखा है। यह एनएमसी के नियमों का भी उल्लघंन है।

खून की जांच की रिपोर्ट में भिन्नता पाए जाने की शिकायत

इसी तरह लैब में भी चिकित्सक रिपोर्ट पर अपने नाम और मुहर का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं। सैंपलिंग और रिपोर्ट के एरर को चिकित्सकों और तकनीशियनों को देखना है।

इंजीनियर बुलाकर जो एरर थे, उन्हें दूर कराया गया है। अस्पताल की लैब व अन्य लैब में खून की जांच की रिपोर्ट में भिन्नता पाए जाने की शिकायत भी मिली है।

ओपीडी और लैब के चिकित्सकों को सख्त हिदायत दी गई

इसे देखते हुए ओपीडी और लैब के चिकित्सकों को सख्त हिदायत दी गई है कि वह अपने नाम और मुहर का प्रयोग करें। यह आदेश नहीं मानने वाले चिकित्सकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और वार्षिक गोपनीय प्रविष्टि के दौरान इस लापरवाही का संज्ञान लिया जाएगा।

Dehradun News: अब आवासीय भवनों के नक्शे पास कराने को नहीं बेलने होंगे पापड़, आर्किटेक्ट को दिया जाएगा अधिकार

अनुपलब्ध दवा को जन औषधि केंद्र से लिखने की हिदायत दी

उन्होंने सभी एचओडी, प्रभारी सेंट्रल लैब को आदेश का कड़ाई से पालन कराने को कहा है। साथ ही अस्पताल में उपलब्ध दवा अंदर से देने और अनुपलब्ध दवा को जन औषधि केंद्र से लिखने की हिदायत दी है।

Edited By: Nirmala Bohra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट