जागरण संवाददाता, देहरादून। कोरोनाकाल में चिकित्सकों, मेडिकल स्टाफ, पुलिस और सफाई कॢमयों ने सराहनीय कार्य किया है। चिकित्सक महामारी के दौरान सैनिक की तरह मोर्चे पर डटे रहे। उन्होंने कई-कई माह परिवार से दूर रहकर मरीजों की सेवा की। उनके इस जज्बे को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता। यह बातें महापौर सुनील उनियाल गामा ने चकराता रोड स्थित आइएमए भवन में कहीं। वह यहां इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आइएमए) की दून शाखा के अधिष्ठापन एवं शपथ ग्रहण समारोह में शिरकत करने पहुंचे थे। 

रविवार को हुए इस कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि महापौर सुनील उनियाल गामा और विशिष्ट अतिथि मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. अनूप कुमार डिमरी ने दीप जलाकर किया। महापौर गामा ने चिकित्सकों से गरीब और जरूरतमंदों का इलाज सस्ती दर पर करने के लिए कहा है। वहीं, मुख्य चिकित्साधिकारी डिमरी ने कहा कि सरकारी और निजी चिकित्सकों का लक्ष्य एक ही है। हमारा फोकस गुणवत्तापरक सेवा और मरीज की संतुष्टि पर रहना चाहिए। 

पूर्व शाखा अध्यक्ष और अब प्रांतीय महासचिव डॉ. अजय खन्ना ने भी कोरोनाकाल में डॉक्टरों के काम की भी सराहना की है। नवनियुक्त अध्यक्ष डॉ. अमित सिंह ने कहा कि चिकित्सकों की तमाम समस्याओं के समधाम के लिए प्रयास किया जाएगा। इस दौरान अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष डॉ. आरके जैन, वरिष्ठ न्यूरो सर्जन डॉ. महेश कुड़ियाल, डॉ. प्रवीण जिंदल, आइएमए दून शाखा की सचिव डॉ. रूपा हंसपाल, कोषाध्यक्ष डॉ. विजय त्यागी आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- उत्‍तराखंड में सुकून के बीच भी समस्या बनकर उभरे मैदानी जिले, इन चार जिलों में आए कोरोना के ज्‍यादा मामले

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021