राज्य ब्यूरो, देहरादून: चिकित्सा सेवा चयन आयोग के तहत भर्ती हुए 417 चिकित्सकों की मंगलवार को तैनाती मिल सकती है। शासन स्तर पर इसके लिए सारी तैयारियां हो चुकी हैं। अब इसमें केवल औपचारिक आदेश होने शेष रह गए हैं।

शासन ने कुछ समय पहले चिकित्सा सेवा चयन आयोग के जरिए 478 चिकित्सकों की नियुक्ति की थी। अब इनकी तैनाती होनी है। इनकी तैनाती को लेकर की गई कसरत में 417 चिकित्सक फिलहाल तैनाती के लिए पात्र पाए गए हैं। शेष के दस्तावेज व अन्य अनापत्तियां अभी लंबित पड़ी हैं। पात्र पाए गए चिकित्सकों की तैनाती को लेकर शासन में पूरी कवायद हो गई है। शासन ने फिलहाल इन चिकित्सकों की तैनाती मैदानी व पर्वतीय जनपदों में कर रहा है। मंशा यह है हर खाली चिकित्सालयों में 70 फीसद पद भर जाएं। शासन विशेषज्ञ चिकित्सकों की तैनाती उनकी इच्छा के अनुसार, संविदा चिकित्सकों की तैनाती उनके पुराने चिकित्सा स्थल और बाहर से आ रहे चिकित्सकों की तैनाती मैदानी जिलों में ही कर रहा है। ताकि वे लंबे समय तक प्रदेश की सेवाएं दे सकें।

सचिव चिकित्सा नीतेश झा का कहना है कि अभी तबादला नीति के तहत चिकित्सकों के तबादले होने हैं इसकी कारण मैदानी व पर्वतीय जनपदों में पूरे पद नहीं भरे गए हैं ताकि तबादले की जद में आने वाली वरिष्ठ चिकित्सकों को तैनाती दी जा सके।

आज हो सकते हैं बर्खास्तगी के आदेश

सरकारी सेवा से तीन वर्ष से अधिक समय से गायब चल रहे 48 चिकित्सकों की बर्खास्तगी के आदेश भी आज होने की संभावना है। दरअसल, इन चिकित्सकों को कई बार रिमाइंडर भेजा जा चुका है। शासन को कोई जवाब न मिलने पर अब इन्हें बर्खास्त करने का निर्णय ले लिया गया है।

स्वेच्छा से होंगे सीएमओ के तबादले

शासन ने प्रदेश में सीएमओ के तबादले स्वेच्छा से करने का निर्णय लिया है। सचिव स्वास्थ्य नीतेश झा का कहना है कि प्रदेश में सीएमओ की कमी है इसलिए इनकी वरिष्ठता और इनकी स्वेच्छा को तबादलों में तरजीह दी जाएगी।

By Jagran