जागरण संवाददाता, देहरादून। बढ़ते कोरोना संक्रमण के मद्देनजर दून में शनिवार व रविवार को लॉकडाउन लगने की इंटरनेट मीडिया पर चल रही चर्चा को जिलाधिकारी डा. आशीष श्रीवास्तव ने स्पष्ट नकार दिया है। जिलाधिकारी ने कहा कि दून में किसी तरह का लॉकडाउन नहीं किया जा रहा है। सिर्फ कोरोना संक्रमण से बचाव को नियमों का पालन कराने के लिए सख्ती जरूर चल रही है। उन्होंने लॉकडाउन की झूठी सूचना इंटरनेट मीडिया या किसी भी जरिये समाज में फैलाने वालों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई के आदेश दिए हैं। 

दून में कोरोना संक्रमण का ग्राफ पिछले कुछ दिनों से लगातार बढ़ रहा है। नतीजा यह हुआ कि जिला प्रशासन को ऐतिहासिक झंडा मेला भी महज दो दिन का करना पड़ा, जबकि हर वर्ष यह एक माह का होता था। बाहरी राज्यों से यहां आने वालों को पिछले 72 घंटे की कोविड जांच की निगेटिव रिपोर्ट लाना भी अनिवार्य कर दिया गया है। सीमा पर सख्ती की जा रही और बिना जांच किए आए यात्रियों को लौटाया भी जा रहा। इसी बीच व्यापारियों व आमजन के बीच इंटरनेट मीडिया पर तेजी से चर्चा होने लगी कि दून में हर शनिवार और रविवार को लॉकडाउन लगाने की तैयारी चल रही। इससे आमजन में अफवाह फैल गई और लोग आवश्यक वस्तुओं की खरीददारी में जुट गए। शनिवार व रविवार को जिन्हें बाहर जाना था, उनमें बड़ी संख्या में लोग शुक्रवार को ही गंतव्य के लिए निकल पड़े। बाजार में अफवाह के बीच व्यापारी भी असमंजस में नजर आए व पुलिस-प्रशासन से संपर्क साधने में जुट गए। 

इसकी सूचना जिलाधिकारी डा. आशीष श्रीवास्तव तक पहुंची तो उन्होंने स्थिति को स्पष्ट कर लॉकडाउन की चर्चा को खारिज कर दिया। जिलाधिकारी ने कहा कि समाज में अफवाह फैलाकर जनमानस को भ्रमित करने की कोशिश की जा रही, जिससे पूरे शहर में भयावह माहौल पैदा हो गया है। उन्होंने बताया कि पुलिस को ऐसे व्यक्तियों पर कार्रवाई के आदेश दिए गए हैं, जो इस तरह की अफवाह फैला रहे। 

डीएल रोड पर बना कंटेंटमेंट जोन

नगर निगम क्षेत्र स्थित डीएल रोड पर कोरोना संक्रमित मरीजों के पाए जाने पर प्रशासन ने उक्त इलाके को कंटेंटमेंट जोन बना दिया है। जिलाधिकारी के आदेश पर 196 डीएल रोड के पास के क्षेत्र को पाबंद किया गया है। जिलाधिकारी ने बताया कि कंटेंटमेंट जोन शुक्रवार से लागू किया गया है। कंटेंटमेंट जोन बने रहने तक इलाके की सभी दुकानें, बैंक, दफ्तर आदि बंद रहेंगे। लोग अपने घरों में रहेंगे और जरूरी चीजों की खरीददारी के लिए परिवार के एक ही सदस्य को बाहर आने की अनुमति होगी। क्षेत्र में मोबाइल वैन के माध्यम से सामान की आपूर्ति की जाएगी। नगर निगम को इस क्षेत्र में सैनिटाइजेशन की व्यवस्था करने का आदेश दिया गया है। 

यह भी पढ़ें-सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी कोरोना संक्रमित, चिकित्सकों की सलाह पर हुए होम आइसोलेट

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें